अनुराग कश्यप ने यौन उत्पीड़न के आरोपों को ‘निराधार’ करार दिया

मुंबई, 20 सितंबर (भाषा) फिल्मकार अनुराग कश्यप ने अभिनेत्री पायल घोष के यौन शोषण आरोपों को रविवार को खारिज करते हुए इन्हें ‘‘निराधार’’ करार दिया।

इस बीच, उनकी पूर्व पत्नी और फिल्म एडिटर आरती बजाज, फिल्म जगत से अभिनेत्री तापसी पन्नू, हंसल मेहता, मोहम्मद जीशान अयूब, टिस्का चोपड़ा, सुरवीन चावला और निर्देशक अनुभव सिन्हा उनके समर्थन में सामने आए हैं और इन्होंने कश्यप को कार्यस्थल पर महिलाओं के लिए सुरक्षित माहौल उपलब्ध कराने का श्रेय भी दिया है।

घोष ने शनिवार को ट्वीट किया था कि ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ के निर्देशक ने उनका यौन उत्पीड़न किया।

अभिनेत्री ने अपना ट्वीट प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को टैग करते हुए कश्यप के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी।

घोष ने ट्वीट में कहा, ‘‘अनुराग कश्यप ने मेरे साथ बुरी तरह जबर्दस्ती की। प्रधानमंत्री कार्यालय और नरेन्द्र मोदी जी कार्रवाई कीजिए तथा देश इस रचनात्मक व्यक्ति में छिपे शैतान को देखे। मुझे पता है कि यह मुझे नुकसान पहुंचा सकता है और मेरी सुरक्षा को खतरा है। कृपया मदद कीजिए।’’

एबीएन तेलुगु को जारी एक वीडियो में घोष ने दावा किया कि घटना 2014-2015 की है।

ऋषि कपूर-परेश रावल अभिनीत फिल्म ‘पटेल की पंजाबी शादी’ से हिंदी फिल्मों में शुरुआत करने वाली अभिनेत्री ने यह भी दावा किया कि कश्यप ने मेगास्टार अमिताभ बच्चान के साथ अपने संबंधों के बारे में बताया था और दावा किया था कि कुछ अन्य महिला कलाकारों के साथ भी उनके अंतरंग संबंध रहे हैं।

वहीं, कश्यप ने सिलसिलेवार ट्वीट कर इन आरोपों को खारिज किया और कहा कि यह उन्हें ‘‘खामोश’’ करने का प्रयास है।

कश्यप ने ट्वीट किया, ‘‘क्या बात है, इतना समय ले लिया मुझे चुप करवाने की कोशिश में। चलो कोई नहीं, मुझे चुप कराते कराते इतना झूठ बोल गए कि औरत होते हुए दूसरी औरतों को भी संग घसीट लिया, थोड़ी तो मर्यादा रखिए मैडम। बस यही कहूंगा कि जो भी आरोप हैं आपके, सब बेबुनियाद हैं।’’

कश्यप ने अगले ट्वीट में लिखा, ‘‘मुझपे आरोप लगाते लगाते, मेरे कलाकारों और बच्चन परिवार को संग में घसीटना तो मतलब नहले पे चौका भी नहीं मार पाए। मैडम दो शादियां की हैं, अगर वो जुर्म है तो मंजूर है और बहुत प्रेम किया है, वो भी कबूलता हूं, चाहे मेरी पहली पत्नी हों, या दूसरी पत्नी।’’

उन्होंने आगे कहा,‘‘ कोई भी प्रेमिका या वो बहुत सारी अभिनेत्रियां जिनके साथ मैंने काम किया है , या वो पूरी लड़कियों और औरतों की टीम जो हमेशा मेरे साथ काम करती आई हैं, या वो सारी औरतें जिनसे मैं मिला, अकेले में या जनता के बीच, मैं इस तरह का व्यवहार ना तो कभी करता हूं, ना तो कभी किसी कीमत पे बर्दाश्त करता हूं। बाक़ी जो भी होता है, देखते हैं ।’’

राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा है कि आयोग मामले में संज्ञान लेगा।

शर्मा ने ट्वीट किया,‘‘ आप (पायल घोष) मुझे विस्तार में शिकायत भेजें, आयोग उसे देखेगा।’’

वहीं, कश्यप की पूर्व पत्नी बजाज ने आरोपों को ‘घटिया हथकंडा’ करार देते हुए कहा कि फिल्मकार वैसे इंसान हैं जो अपने यहां महिला कर्मियों के लिए काम का सुरक्षित माहौल सुनिश्चित करते हैं।

बजाज ने इंस्टाग्राम पर पोस्ट किया, ‘अनुराग कश्यप आप रॉकस्टार हैं। जैसे आप महिलाओं को सशक्त करते हैं, वैसा करना और उन सभी के लिए सुरक्षित स्थल तैयार करना जारी रखें। मैं सबसे पहले इसे हमारी बेटी के साथ देखती हूं।’

उन्होंने कहा कि दुनिया में जरा सी भी ईमानदारी नहीं बची है और दुनिया बेकार लोगों से भरी हुई है। बजाज ने कहा कि अगर सभी लोग, जो दूसरों से घृणा करने में अपनी ऊर्जा लगाते हैं अगर उसका रचनात्मक इस्तेमाल करते तो यह दुनिया बेहतर होती।

बजाज ने कश्यप से कहा कि वह गलतियों के खिलाफ अपनी आवाज उठाना जारी रखें। उन्होंने कहा, ‘अब तक का सबसे घटिया स्टंट, पहले इस पर मुझे गुस्सा आया और फिर हंसी आ गई। मैं दुखी हूं कि आपको इससे गुजरना पड़ रहा है। यही उनका स्तर है। हमेशा ऊंचाई पर रहें और अपनी आवाज उठाना जारी रखें। हम आपको प्यार करते हैं।’

कश्यप के साथ ‘मनमर्जियां’ में काम कर चुकीं तापसी पन्नू ने इंस्टाग्राम पर लिखा कि फिल्मकार सबसे बड़े नारीवादी हैं। वहीं, अनुभव सिन्हा ने कहा कि मीटू उत्पीड़ित महिलाओं की आवाज का आंदोलन है और इसका गलत इस्तेमाल नहीं होना चाहिए।

अयूब ने अपील करते हुए कहा, ‘ कम से कम मीटू जैसे एक महत्वपूर्ण अभियान को तो बख्श दो।’

कश्यप के बचाव में आए हंसल मेहता ने कहा, ‘ क्या एक बार फिर यह फंसाने का तरीका है? क्या वे एक कलाकार के अंसतुष्ट विचारों को चुप कराने का प्रयास कर रहे हैं? हम कहां जा रहे हैं? और इन आरोपों को सुनने के बाद लगा कि क्या अनुराग ऐसा हो सकता है? मैं जानता हूं कि पक्के तौर पर अनुराग यह नहीं है।’

नेटफ्लिक्स के सीरिज ‘सैक्रेड गेम्स’ में कश्यप के साथ काम कर चुकीं सुरवीन चावला ने कहा कि निर्देशक के खिलाफ आरोप ‘अवसरवादिता’ है। उन्होंने कहा कि कश्यप का काम इस आरोप से बड़ा है।

कश्यप के साथ लघु फिल्म ‘छुरी’ में काम कर चुकीं टिस्का चोपड़ा ने कहा कि फिल्मकार प्रतिभा के सबसे बड़े समर्थकों में से एक हैं, चाहे वह महिला हो या पुरुष।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: