अफगानिस्तान में शांति प्रक्रिया के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय के साथ मिलकर काम कर रहे हैं : अमेरिका

वाशिंगटन, बाइडन प्रशासन ने कहा है कि अफगानिस्तान में राजनीतिक समझौता और व्यापक संघर्ष विराम की स्थिति पर पहुंचने के लिए वहां शांति प्रक्रिया को मजबूती देने के इरादे से अमेरिका, पाकिस्तान समेत अंतरराष्ट्रीय समुदाय के साथ काम कर रहा है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नेड प्राइस ने अफगानिस्तान के लिए विशेष प्रतिनिधि जलमय खलीलजाद की सोमवार को इस्लामाबाद यात्रा और सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा समेत पाकिस्तानी अधिकारियों से मुलाकात पर यह टिप्पणी की।

प्राइस ने अपने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘इन चर्चाओं में खलीलजाद ने पाकिस्तान में अपने समकक्ष से उनके सहयोग के लिए धन्यवाद किया और शांति प्रक्रिया के लिए पाकिस्तान की लगातार प्रतिबद्धता का आह्वान किया।’’

उन्होंने कहा कि खलीलजाद की यह यात्रा क्षेत्र में अमेरिकी कूटनीति की निरंतरता का प्रतिनिधित्व करती है। राष्ट्रपति जो बाइडन के 20 जनवरी को पद संभालने के बाद खलीलजाद की क्षेत्र में पहली यात्रा है।

प्राइस ने कहा, ‘‘हमलोग दोहा में सहयोगियों और पाकिस्तान समेत अंतरराष्ट्रीय समुदाय के साथ मिलकर काम कर रहे है। वहां पर राजदूत खलीलजाद गए हैं।’’

शांति प्रक्रिया में अवरोध और हिंसा बढ़ने के कारण अमेरिका ने अफगानिस्तान को आठ पन्ने का मसौदा शांति समझौता प्रस्तुत किया है।

वार्ता में शामिल हो रहे दोनों पक्षों के मुताबिक अमेरिका ने उन्हें आगामी हफ्ते में इस समझौते पर सहमति बनाने को कहा है।

दस्तावेज में संघर्षविराम और इसे लागू करने, महिला, बाल, अल्पसंख्यक अधिकारों के संरक्षण और सुलह-सफाई के लिए आयोग बनाने का आह्वान किया है।

प्राइस ने मसौदा प्रस्ताव की पुष्टि नहीं की, लेकिन कहा, ‘‘हमारे कूटनीतिक प्रयासों के लिए यह महत्वपूर्ण है कि इसके लिए कदम उठाए जाएं।’’

तालिबान के प्रवक्ता ने कहा है कि मसौदा मिला है और उसकी समीक्षा की जा रही है।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Wikipedia

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: