इशांत को 100वें टेस्ट की उपलब्धि मैच में राष्ट्रपति और गृहमंत्री ने सम्मानित किया

अहमदाबाद, भारत के अनुभवी तेज गेंदबाज इशांत शर्मा को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और गृहमंत्री अमित शाह ने यहां बुधवार को उनके 100वें टेस्ट की उपलब्धि के लिये सम्मानित किया जिसके बाद टीम के साथी खिलाड़ियों ने ‘गार्ड ऑफ ऑनर’ दिया।

पूर्व कप्तान कपिल देव के बाद 100 टेस्ट मैच खेलने वाले 32 वर्षीय इशांत दूसरे भारतीय तेज गेंदबाज हैं।

इंग्लैंड के खिलाफ दिन/रात्रि तीसरा टेस्ट शुरू होने से पहले इस तेज गेंदबाज को यहां नरेंद्र मोदी स्टेडियम में राष्ट्रपति कोविंद ने एक स्मृति चिन्ह और शाह ने 100वीं टेस्ट की स्मरणीय कैप सौंपी।

इंग्लैंड ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया जिसके बाद जब भारतीय टीम मैदान में उतरी तो कप्तान विराट कोहली सहित अन्य खिलाड़ी देश के क्रिकेट में उनके इतने लंबे समय से योगदान को सम्मानित करने के लिये एक पंक्ति में खड़े हो गये।

भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने ट्वीट किया, ‘‘इशांत शर्मा को यहां अहमदाबाद में खेल शुरू होने से पहले भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और भारत के गृहमंत्री अमित शाह ने सम्मानित किया। ’’

दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम के उद्घाटन के दौरान खेल मंत्री किरेन रीजीजू और बीसीसीआई सचिव जय शाह भी उपस्थित थे।

इशांत ने इस उपलब्धि वाले मैच में डोमिनिक सिब्ली को तीसरे ही ओवर में आउट कर घरेलू टीम को अच्छी शुरूआत करायी।

हालांकि उनके करीब डेढ़ दशक के करियर में उनके लिये कई यादगार पल रहे लेकिन मैच से पहले पत्रकारों से बात करते हुए उन्हें एक क्षण के बारे में बताने में मुश्किल हुई।

उन्होंने कहा, ‘‘अगर आपका करियर 14 साल लंबा हो और आप तब भी खेल रहे हो तो आप एक पल के बारे नहीं बता सकते। एक शानदार पल के बारे में बताना मुश्किल है, हर खिलाड़ी का ग्राफ ऊपर नीचे होता रहता है। ’’

चेन्नई में इस महीने के शुरू में इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट के दौरान इशांत टेस्ट क्रिकेट में 300 विकेट चटकाने वाले छठे भारतीय तथा कपिल देव और जहीर खान के बाद देश के तीसरे तेज गेंदबाज बन गये थे।

इशांत ने अपना टेस्ट पदार्पण 2007 में बांग्लादेश के खिलाफ किया था। इशांत ने 11 बार पारी में पांच या इससे अधिक विकेट लिये हैं और एक मैच में एक बार 10 विकेट झटके हैं।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: