उत्तराखंड में प्रत्येक युवा को नौकरी देने का आप का वादा ‘मिथ्या गारंटी’ : कांग्रेस

नयी दिल्ली, कांग्रेस की दिल्ली इकाई ने उत्तराखंड में एक लाख युवाओं को छह महीने में नौकरी देने के दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के वादे को ‘‘मिथ्या गारंटी’’ करार देते हुये कहा कि पिछले सात साल में राष्ट्रीय राजधानी में केवल 440 लोगों को ही नौकरी मिली है।

केजरीवाल ने रविवार को कहा था कि अगर उनकी पार्टी आगामी विधानसभा चुनाव के बाद सत्ता में आती है तो उत्तराखंड से पलायन रोकने के लिये बड़े कदम उठाए जाएंगे, बेरोजगारों को प्रतिमाह बेरोजगारी भत्ता और स्थानीय नौकरियों में राज्य के युवाओं को 80 फीसदी आरक्षण दिया जायेगा ।

केजरीवाल ने उनकी पार्टी के सत्ता में आने पर प्रत्येक परिवार के एक बेरोजगार को नौकरी देने तक पांच हजार रुपये प्रतिमाह बेरोजगारी भत्ता देने समेत छह वादे किए ।

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अनिल कुमार के हवाले से जारी बयान में कहा गया है, ‘‘रोजगार विभाग में 84 फीसदी पद रिक्त है । पिछले सात साल में केवल 440 लोगों को नौकरी मिली है और अरविंद (केजरीवाल) उत्तराखंड में छह महीने में एक लाख नौकरी देने का वादा कर रहे हैं ।’’

कुमार ने कहा, ‘‘देव भूमि उत्तराखंड के लोगों को अरविंद ने छह सूत्री मिथ्या गांरटी दी है, जैसा उन्होंने दिल्ली के लोगों के साथ किया है।’’

कांग्रेस नेता ने कहा कि दिल्ली सरकार को सरकारी पोर्टल पर पंजीकृत 13 लाख युवाओं को सात हजार रुपये प्रतिमाह बेरोजगारी भत्ता देना चाहिये ।

कुमार ने कहा, ‘‘केजरीवाल ने उत्तराखंड के लागों को छह महीने में नौकरी देने का वादा किया है जैसे उन्होंने दिल्ली के लोगों को पांच साल में आठ लाख नौकरी देने का वादा किया था ।’’

उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन सत्ता में आने के बाद दिल्ली में केवल 440 युवाओं को नौकरी मिली है जबकि 84 फीसदी पद रिक्त हैं। केजरीवाल को सरकारी पोर्टल पर पंजीकृत 13 लाख युवाओं को सात हजार रुपये प्रतिमाह बेरोजगारी भत्ता देना चाहिये ।’’ दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि दिल्ली पूरी दुनिया में सर्वाधिक प्रदूषित शहर का दर्जा प्राप्त कर चुकी है।

उन्होंने कहा कि इसके अलावा तमाम समस्यायें मुंह बाये खड़ी है।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Wikimedia commons

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: