उ.कोरिया के मिसाइल परीक्षण के एक दिन बाद जापान, अमेरिका और द.कोरिया ने की बैठक

तोक्यो, जापान, अमेरिका और दक्षिण कोरिया के वरिष्ठ राजनयिकों ने उत्तर कोररिया की मिसाइल तथा उसके परमाणु कार्यक्रमों को लेकर मंगलवार को चर्चा की। लंबी दूरी की नई क्रूज़ मिसाइल का सफल परीक्षण करने की उत्तर कोरिया की घोषणा के एक दिन बाद यह बैठक की गई।

इस बैठक में उत्तर कोरिया पर नीति के लिए अमेरिका के विशेष प्रतिनिधि सुंग किम, कोरियाई प्रायद्वीप शांति एवं सुरक्षा मामलों के लिए दक्षिण कोरिया के विशेष प्रतिनिधि नोह क्यू-डुक और एशियाई एवं महासागरीय मामलों के लिए जापान के महानिदेशक ताकेहिरो फुनाकोशी शामिल हुए।

जापान के विदेश मंत्री तोशिमित्सु मोतेगी ने एक नियमित संवाददाता सम्मेलन में मंगलवार को बताया कि उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षण से पहले ही त्रिपक्षीय बैठक तय थी, लेकिन उसके बाद यह बैठक ‘‘तीन देशों के बीच घनिष्ठ सहयोग की पुन: पुष्टि करने और नवीनतम उत्तर कोरियाई स्थिति पर चर्चा करने का एक अच्छा अवसर’’ होगी।

जापान के अधिकारियों और कुछ विशेषज्ञों का कहना है कि उत्तर कोरिया का सप्ताहांत में किया मिसाइल परीक्षण क्षेत्र के लिए एक ‘‘नया खतरा’’ है।

‘कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी’ (केसीएनए) ने सोमवार को कहा था कि क्रूज़ मिसाइल विकसित करने का काम बीते दो साल से चल रहा था और शनिवार तथा रविवार को परीक्षण के दौरान उसने 1,500 किलोमीटर दूर स्थित लक्ष्य पर मार करने की क्षमता का प्रदर्शन किया। उत्तर कोरिया ने नई मिसाइलों को ‘‘बेहद महत्वपूर्ण सामरिक हथियार’’ बताया जो सेना को मजबूत करने के देश के नेता किम जोंग-उन के आह्वान के अनुरूप है। उत्तर कोरिया का कहना है कि वाशिंगटन और सियोल का सामना करने के लिए उसे परमाणु हथियारों की जरूरत है।

एशिया-प्रशांत क्षेत्र में अमेरिका की उपस्थिति के लिए जापान और दक्षिण कोरिया प्रमुख सहयोगी हैं।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Wikimedia commons

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: