एडीबी ने तमिलनाडु में शहरी गरीब आवासीय परियोजना के लिये 15 करोड़ डॉलर के ऋण को मंजूरी दी

नयी दिल्ली, बहुपक्षीय वित्त पोषण एजेंसी एशियाई विकास बैंक (एडीबी) ने तमिलनाडु में शहरी गरीबों के लिए एक वहनीय आवासीय परियोजना के लिये 15 करोड़ डॉलर (करीब 1,095 करोड़ रुपये) के ऋण को मंजूरी दी है।

एडीबी ने सोमवार को एक विज्ञप्ति में कहा कि तमिलनाडु में शहरी गरीबों के लिए समावेशी, मजबूत और सतत आवास की उपलब्धता की खातिर तीन सितंबर, 2021 को ऋण से जुड़ी मंजूरी दे दी गयी।

मनीला स्थित एजेंसी ने कहा कि तमिलनाडु भारत के आर्थिक विकास के लिए महत्वपूर्ण है, जो देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 8.54 प्रतिशत का योगदान देता है।

आर्थिक अवसरों की वजह से राज्य में ग्रामीण क्षेत्रों से शहरी क्षेत्रों की ओर विस्थापन बढ़ गया है। तमिलनाडु पहले से ही भारत में सबसे अधिक शहरीकरण दर वाले राज्यों में से एक है।

दक्षिण एशिया के लिए एडीबी के प्रधान बचाव विशेषज्ञ रिकार्डो कार्लोस बार्बा ने कहा कि ऋण का उद्देश्य कमजोर और वंचित परिवारों के लिए समावेशी, सुरक्षित और किफायती आवास ढांचा और सेवाएं उपलब्ध कराना है।

तमिलनाडु की आबादी 7.20 करोड़ से अधिक है जिसमें से करीब आधे लोग शहरी क्षेत्रों में रहते हैं। एडीबी का कहना है कि तेजी से बढ़ते शहरीकरण और शहरी आबादी बढ़ने से शहरी क्षेत्रों में पर्याप्त ढांचागत सुविधाओं और सेवाओं की आवश्यकता है।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Wikimedia commons

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: