एलएसी पर यथास्थिति बदलने के चीन के प्रयासों का भारतीय जवानों ने माकूल जवाब दिया: सरकार

नयी दिल्ली, सरकार ने बुधवार को कहा कि पूर्वी लद्दाख में गतिरोध वाले सभी स्थानों से सैनिकों के पीछे हटने के लक्ष्य को पूरा करने के लिए चीन के साथ बातचीत जारी है।

विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी।

मंत्री से भारत-चीन सीमा पर गतिरोध को लेकर सवाल किया गया था।

मुरलीधरन की यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है जब बुधवार को चीन के रक्षा मंत्रालय ने बीजिंग में एक बयान जारी कर कहा कि पूर्वी लद्दाख में पैंगोग झील के उत्तरी और दक्षिणी छोर पर तैनात भारत और चीन के अग्रिम पंक्ति के सैनिकों ने बुधवार से व्यवस्थित तरीके से पीछे हटना शुरू कर दिया।

मुरलीधरन ने कहा कि पिछले साल अप्रैल-मई के बाद पूर्वी लद्दाख में चीन की सेना ने वास्तविक नियंत्रण रेखा पर यथास्थिति बदलने के लिए कई बार एकतरफा प्रयास किया और भारतीय जवानों ने माकूल जवाब दिया।

उन्होंने कहा कि गतिरोध वाले सभी स्थानों से सैनिकों के पीछे हटने के लक्ष्य को पूरा करने के लिए चीन के साथ बातचीत चल रही है।

उल्लेखनीय है कि भारत और चीन की सेना के बीच पूर्वी लद्दाख में नौ महीनों से गतिरोध बना हुआ है।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: