कड़े प्रतिद्वद्वियों के खिलाफ मैत्री मैचों से खुद को परखने में मदद मिलेगी : संधू

नयी दिल्ली, भारतीय पुरूष फुटबॉल टीम के गोलकीपर गुरप्रीत सिंह संधू को लगता है कि ओमान और संयुक्त अरब अमीरात जैसी कड़ी प्रतिद्वंद्वी टीमों के खिलाफ मैत्री मैच खेलने से खिलाड़ियों को खुद को परखने में मदद मिलेगी क्योंकि वे कोविड-19 महामारी के कारण एक साल से भी ज्यादा समय बाद अंतरराष्ट्रीय स्तर के मैचों में वापसी कर रहे हैं।

भारतीय पुरूष टीम को 25 मार्च को ओमान के खिलाफ और 29 मार्च को संयुक्त अरब अमीरात के खिलाफ दुबई में दो अंतरराष्ट्रीय मैत्री मैच खेलने हैं।

संधू ने अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ की विज्ञप्ति में कहा, ‘‘यह हम खिलाड़ियों के लिये और भारतीय फुटबॉल के लिये बहुत अच्छी खबर है कि हम अंतरराष्ट्रीय मैचों में फिर खेलेंगे। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘दोनों मैच बहुत कड़ी प्रतिद्वंद्वी टीमों के खिलाफ हैं जिनके खिलाफ हम खेलना पसंद करेंगे और खुद को परखना चाहेंगे। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘अंतरराष्ट्रीय खेल कोविड-19 महामारी के कारण बंद हो गये थे, मैं भली भांति वाकिफ हूं कि मौजूदा परिस्थतियों में मैचों का आयोजन करना कितना मुश्किल है। ’’

भारतीय टीम ने अंतरराष्ट्रीय स्तर का अपना अंतिम मैच नवंबर 2019 में खेला था। इसमें टीम ने ताजिकिस्तान में अफगानिस्तान के खिलाफ और मस्कट में ओमान के खिलाफ 2022 फीफा विश्व कप क्वालीफायर मैच खेले थे।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: