कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई में ‘बाधक’ बने विपक्षी दल: नड्डा

नयी दिल्ली, भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने बुधवार को विपक्षी दलों पर टीकाकरण अभियान में ‘‘बाधक’’ की भूमिका निभाने का आरोप लगाया और कांग्रेस के शीर्ष नेताओं पर निशाना साधते हुए कहा कि टीकों को लेकर भ्रम पैदा करने वालों ने खुद ‘‘चुपके-चुपके’’ टीका लगवा लिया।

भारतीय जनसंघ के संस्थापक और पार्टी के विचारक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि पर पार्टी मुख्यालय में आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों में सम्मिलित होने के बाद अपने संबोधन में नड्डा ने कश्मीर में रहस्यमय परिस्थितयों में हुई मुखर्जी की मौत की जांच ना कराने के लिए पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के नेतृत्व वाली तत्कालीन कांग्रेस सरकार को दोषी ठहराया।

नड्डा ने कहा कि भारत में पहले 600 मीट्रिक टन तक ऑक्सीजन का उत्पादन होता था जबकि पिछले साल तक यह उत्पादन 1,000 मीट्रिक टन तक पहुंचा और कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर में जब देश में ऑक्सीजन की मांग बढ़ने लगी तब एक सप्ताह के भीतर इसका उत्पादन 3000 मीट्रिक टन तक पहुंचा दिया गया। उन्होंने कहा कि आज देश में 9,440 मीट्रिक टन से अधिक ऑक्सीजन का उत्पादन हो रहा है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि टीकाकरण अभियान अभी देश में पूरी क्षमता के साथ चल रहा है और इस वर्ष के अंत तक 257 करोड़ टीकों की खुराक तैयार हो जाएगी तथा सभी लोगों को दोनों खुराक देने के लिए भारत तैयार हो जाएगा।

टीकों और टीकाकरण अभियान को लेकर सवाल खड़े करने के लिए विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, ‘‘हम साधक बने हुए हैं… हम साधना कर रहे हैं वहीं कुछ राजनीतिक दल बाधक बने हुए हैं।’’

नड्डा ने कहा, ‘‘पहले लॉकडाउन को लेकर राजनीति की गई, फिर टीकों को लेकर सवाल उठाए गए। कांग्रेस के नेताओं ने लोगों को भ्रमित करने वाले बयान दिए और फिर उन्होंने खुद चुपके-चुपके टीके लगवा लिए…कोई नेता तो बताए कि उसने टीका नहीं लगवाया।’’

ज्ञात हो कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा से भाजपा नेता पूछते रहे हैं कि उन्होंने कोविड-19 रोधी टीका लगवाया कि नहीं ? इसके जवाब में कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने पिछले दिनों कहा था कि सोनिया गांधी कोविड-19 टीके की दोनों खुराकें ले चुकी हैं जबकि प्रियंका गांधी वाद्रा ने टीके की पहली खुराक ले ली है और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी कोविड से पूरी तरह सेहतमंद होने के बाद चिकित्सकों की सलाह पर टीका लगवाएंगे।

नड्डा ने दावा किया कि कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में भाजपा के कार्यकर्ताओं ने जहां ‘सेवा ही संगठन’ अभियान चलाकर देशवासियों को मदद पहुंचाई वहीं विपक्षी दल पृथकवास में चले गए और जनता के बीच नहीं गए।

राहुल गांधी व अन्य विपक्षी नेताओं पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, ‘‘यह सारे ट्विटर नेता हो गए हैं। सुबह-सुबह प्रेस कांफ्रेंस में खड़े हो जाते हैं…प्रेस में ही दिखते हैं… जनता में नहीं दिखते…भाजपा को छोड़कर सभी राजनीतिक दल आइसोलेशन में चले गए।’’

पार्टी मुख्यालय में श्यामा प्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित करने के बाद भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि मुखर्जी ने जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 समाप्त करने के लिए आंदोलन चलाया और देश की एकता और अखंडता के लिए अपना पूरा जीवन लगाया।

उन्होंने कहा, ‘‘कश्मीर में जब रहस्यमय परिस्थितियों में उनकी मौत हुई, तब कांग्रेस ने उसकी कोई जांच नहीं करवाई। कोई जानकारी हासिल नहीं की जबकि मुखर्जी की माताजी ने नेहरू को पत्र लिखकर इसकी जांच कराने की मांग की थी।’’

मुखर्जी की पुण्यतिथि को भाजपा ‘‘बलिदान दिवस’’ के रूप में मनाती है। नड्डा ने इस अवसर पर पार्टी मुख्यालय में वृक्षारोपण भी किया।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Wikimedia commons

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: