चीन ने अपने स्थायी अंतरिक्ष केंद्र के लिए मुख्य मॉड्यूल को लांच किया

बीजिंग, 29 अप्रैल (भाषा) चीन ने अपने पहले स्थायी अंतरिक्ष केंद्र के लिए बृहस्पतिवार को मुख्य मॉड्यूल को लांच किया।

चीन का लक्ष्य अगले साल के अंत तक इस अंतरिक्ष केंद्र का निर्माण कार्य पूरा करने का है।

‘तियांहे’ (स्वर्ग महल) नामक इस मॉड्यूल को मार्च 5बी वाई2 रॉकेट के माध्यम ये दक्षिणी द्विपीय प्रांत हैनान के वेनचांग प्रक्षेपण केंद्र से प्रक्षेपित किया गया। इसे देश के अंतरिक्ष कार्यक्रम में बड़ी उपलब्धि माना जा रहा है।

चाइना एकेडमी ऑफ स्पेस टेक्नोलॉजी (सीएएसटी) में अंतरिक्ष के उप मुख्य डिजाइनर बाई लिन्होउ ने सरकारी संवाद एजेंसी शिन्हुआ को बताया कि तियांहे मॉड्यूल अंतरिक्ष केंद्र तियानगोंग के प्रबंधन एवं नियंत्रण केंद्र के रूप में काम करेगा और इसमें एक साथ तीन अंतरिक्ष यान खड़ा करने की व्यवस्था है।

उन्होंने बताया कि तियांहे मॉड्यूल की लंबाई 16.6 मीटर, व्यास 4.2 मीटर और वजन 22.5 टन है और यह चीन द्वारा विकसित सबसे विशाल अंतरिक्ष यान है।

उन्होंने बताया कि अंतरिक्ष केंद्र का आकार अंग्रेजी के वर्ण ‘टी’ की तरह होगा जिसके मध्य में मुख्य मॉड्यूल होगा जबकि दोनों ओर प्रयोगशाला के तौर पर इस्तेमाल किए जाने वाले कैप्सूल होंगे। प्रत्येक मॉड्यूल का वजन 20 टन होगा और जब अंतरिक्ष केंद्र पर, अंतरिक्ष यात्री और सामान लेकर यान पहुंचेंगे तो इसका वजन 100 टन तक पहुंच सकता हैं

इस अंतरिक्ष केंद्र को पृथ्वी की निचली कक्षा में 340 से 450 किलोमीटर की ऊंचाई पर स्थापित किया जा रहा है और यह 10 साल तक काम करेगा। हालांकि, विशेषज्ञों का मानना है कि उचित देखरेख और मरम्मत से यह 15 साल तक काम कर सकता है।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Wikimedia commons

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: