चुनावों में हस्तक्षेप के खतरों निपटने के लिए अमेरिका ने खुफिया अधिकारी को किया नामित

वाशिंगटन, अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन के प्रशासन ने ‘‘रूस, चीन और अन्य शत्रुओं से पैदा होने वाले चुनावों में हस्तक्षेप के खतरों’’ से निपटने के खुफिया समुदाय के प्रयासों को समन्वित करने के लिए केंद्रीय खुफिया एजेंसी (सीआईए) के एक करियर अधिकारी को नामित किया है।

राष्ट्रीय खुफिया निदेशक अवरिल हेन्स की प्रवक्ता निकोल डी हाय ने शुक्रवार को बताया कि हेन्स ने जेफ्री विचमैन को चुनावी खतरों से निपटने के लिए कार्यकारी नामित किया है। उन्होंने बताया कि विचमैन ने खुफिया और साइबर सुरक्षा के क्षेत्र में अहम भूमिकाएं निभाते हुए 30 साल तक सीआईए में सेवाएं दीं। उनकी नियुक्ति की जानकारी सबसे पहले ‘द न्यूयॉर्क टाइम्स’ ने दी।

यह नियुक्ति अमेरिकी लोकतंत्र में विदेशी हस्तक्षेप को रोकने के लिए नया खुफिया केंद्र स्थापित करने के रुके हुए प्रयासों के बीच की गई है। विशेषज्ञों और खुफिया अधिकारियों का कहना है कि प्रस्तावित ‘फोरेन मलाइन इन्फ्लुएंस सेंटर’ आवश्यक है, लेकिन खुफिया समुदाय और संसद इसके आकार एवं बजट पर सहमत नहीं हैं।

इससे पहले कार्यकारी रहीं शेल्बी पियर्सन उस समय चर्चा में आई थीं, जब उन्होंने 2020 के चुनावों में अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थन में हस्तक्षेप करने के कथित रूसी प्रयासों को लेकर सांसदों को बंद कमरे में जानकारी दी थी। इससे ट्रंप खफा हो गए थे। उन्होंने तत्कालीन राष्ट्रीय खुफिया निदेशक को फटकार लगाई थी और बाद में पद से हटा दिया था।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Getty Images

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: