चेन्नई में बस, मेट्रो रेल सेवाएं होंगी बहाल, तमिलनाडु सरकार ने पाबंदियों में और ढील दी

चेन्नई, तमिलनाडु सरकार ने रविवार को 27 जिलों के लिए लॉकडाउन नियमों में और ढील की घोषणा की तथा सोमवार से चेन्नई समेत चार जिलों में 42 दिनों बाद बस सेवाएं बहाल होने वाली हैं।

चेन्नई और उससे सटे तीन अन्य जिलों में ई-पंजीकरण की जरूरत खत्म करते हुए सरकार ने कहा कि लोग बिना ऐसी किसी पूर्वानुमति के ऑटोरिक्शा एवं टैक्सियों से यात्रा कर सकते हैं।

सरकार ने एक आधिकारिक विज्ञप्ति में बताया कि यहां 50 फीसद क्षमता के साथ मेट्रो सेवाएं बहाल होंगी तथा इसी प्रकार चेन्नई समेत चार जिलों में अंत: एवं अंतरराज्यीय बस (गैर वातानुकूलित) सेवा 50 फीसद क्षमता के साथ चलेगी।

विज्ञप्ति के अनुसार, पाबंदियों में छूट के लिए तीन श्रेणियों में 38 जिलों को बांटते हुए सरकार ने द्वितीय श्रेणी के 23 जिलों में और छूट की अनुमति दी है, जबकि तीसरी श्रेणी के चार जिलों में बस सेवाओं की बहाली समेत अधिकतर ढील दी गयी हैं।

विज्ञप्ति के मुताबिक, पहली श्रेणी के 11 जिलों में अतिरिक्त छूट नहीं दी गयी है और वहां जरूरी वस्तुओं की दुकानों को मंजूरी समेत वर्तमान ढील जारी रहेंगी। उनमें पश्चिमी क्षेत्र के सात एवं कावेरी डेल्टा के चार जिले हैं। चेन्नई और उसके आसपास के तिरूवल्लूर, कांचीपुरम और चेंगेलपेट जिले तीसरी श्रेणी में हैं।

विज्ञप्ति के अनुसार, सरकार ने लॉकडाउन के तहत अन्य पाबंदियां 28 जून सुबह छह बजे तक के लिए बढ़ा दी हैं और इस दौरान लोग धर्मस्थल पर नहीं जा पायेंगे, सिनेमाघर बंद रहेंगे तथा अधिकतम सौ लोगों के साथ फिल्म शूटिंग की इजाजत दी गयी है। विज्ञप्ति में कहा गया है कि स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालयों में प्रवेश संबंधी प्रक्रिया हो सकती हैं, लेकिन विद्यार्थियों की नियमित कक्षाएं बंद रहेंगी।

शनिवार को राज्य में कोविड-19 के 8,183 नये मामले सामने आये और 180 मरीजों की जान चली गयी।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Wikimedia commons

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: