जयशंकर ने मैक्सिको के अपने समकक्ष से मुलाकात की, विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग पर चर्चा की

मैक्सिको सिटी, विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मैक्सिको के अपने समकक्ष मार्सेलो एब्रार्ड कैसाबोन के साथ ‘‘समग्र वार्ता’’ की और व्यापार, निवेश एवं अंतरिक्ष समेत विभिन्न क्षेत्रों में दोनों देशों के बीच सहयोग की समीक्षा की।

उन्होंने कहा कि दोनों देशों को अंतरराष्ट्रीय मंचों पर और निकटता से एक दूसरे का सहयोग करना चाहिए। जयशंकर तीन दिवसीय यात्रा पर मैक्सिको आए हैं। यह विदेश मंत्री के तौर पर मैक्सिको की उनकी पहली यात्रा है।

जयशंकर ने सोमवार को ट्वीट किया, ‘‘मैंने मैक्सिको के विदेश मंत्री के साथ समग्र वार्ता की। हमने हमारे बीच राजनीतिक सहयोग, व्यापार एवं निवेश, अंतरिक्ष एवं वैज्ञानिक संभावनाओं, सांस्कृतिक आदान प्रदान एवं वाणिज्यदूत संबंधी मामलों पर चर्चा की। हमने शासन की चुनौतियों और वैश्विक विमर्श की दिशा पर दृष्टिकोण साझा किए।’’

जयशंकर पिछले 41 वर्ष में मैक्सिको की यात्रा करने वाले पहले विदेश मंत्री हैं। उन्होंने कहा कि जब स्वतंत्र शक्तियां बहुध्रुवीय विश्व को लेकर प्रतिबद्ध हैं, ऐसे में ‘‘भारत और मैक्सिको को अंतरराष्ट्रीय मंचों पर और निकटता से सहयोग करना चाहिए।’’

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘यह खुशी की बात है कि मैक्सिको के साझेदारों ने भी यही भावना व्यक्त की।’’

जयशंकर ने मैक्सिको सिटी में महात्मा गांधी की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर राष्ट्रपिता को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘खासकर मैक्सिको की स्वतंत्रता की वर्षगांठ पर ऐसा करना उपयुक्त था।’’

जयशंकर ने मैक्सिको सिटी में आयोजित मैक्सिको के स्वतंत्रता दिवस समारोह में भी भाग लिया। उन्होंने सर्बिया की प्रथम महिला तमारा वुसिक और विदेश मंत्री निकोला सेलाकोविक से भी मुलाकात की।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘यह जानकर खुशी हुई कि प्रथम महिला योग का उत्साह से अभ्यास करती हैं।’’

जयशंकर ने बेलीज के प्रधानमंत्री जॉनी ब्रिसेनो और विदेश मंत्री इमोन कर्टनी से भी मुलाकात की। उन्होंने कहा, ‘‘उन्होंने ‘वैक्सीन मैत्री’ की सराहना की, जिस पर मैंने आभार व्यक्त किया।’’

उन्होंने मैक्सिको सिटी में स्वतंत्रता दिवस समारोहों के इतर बांग्लादेश में विदेश मामलों के राज्य मंत्री एम शहरियार आलम से भी मुलाकात की।

इससे पहले, मैक्सिको के वित्त एवं सार्वजनिक ऋण मंत्री रोगेलियो रामिरेज़ डी ला ओ ने उनका स्वागत किया, जिनके साथ उन्होंने कोविड-19 वैश्विक महामारी से निपटने के मैक्सिको के प्रयासों पर चर्चा की।

जयशंकर मैक्सिको के विदेश मंत्री मार्सेलो एब्रार्ड के आमंत्रण पर संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र के समापन के बाद अमेरिका से सीधे मैक्सिको पहुंचे हैं।

विदेश मंत्रालय ने बताया कि जयशंकर मैक्सिको में प्रमुख सीईओ (मुख्य कार्यकारी अधिकारियों) और कारोबारी समुदाय के साथ भी बातचीत करेंगे।

आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, 2018 में दोतरफा व्यापार 10.155 अरब डॉलर का था, जिसमें 5.231 अरब डॉलर का निर्यात और 4.923 अरब डॉलर का आयात शामिल था। भारत मैक्सिको को मुख्य रूप से वाहन और गाड़ियों के पुर्जे, रसायन, एल्यूमीनियम उत्पाद, विद्युत मशीनरी और इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, स्टील आदि का निर्यात करता है। भारत मैक्सिको से कच्चा तेल, इलेक्ट्रिक सामान और मशीनरी आयात करता है।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Getty Images

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: