जॉर्ज फ्लॉयड मामला: चॉविन के खिलाफ एक और अमेरिकी अधिकारी ने दिया बयान

मिनियापोलिस (अमेरिका), अश्वेत अमेरिकी जॉर्ज फ्लॉयड के खिलाफ एक पूर्व पुलिस अधिकारी की कार्रवाई का विरोध करने वाले मिनियापोलिस के पुलिस अधिकारियों की संख्या बढ़ती जा रही है।

इस कार्रवाई का विरोध करने वालों में बल प्रयोग का प्रशिक्षण देने वाला अधिकारी भी शामिल हैं, जिसने बताया कि अधिकारियों को ‘‘गर्दन से दूर रहने’’ का प्रशिक्षण दिया जाता है।

मिनियापोलिस बल के लेफ्टिनेंट जॉनी मर्सिल ने फ्लॉयड की मौत के मामले में बर्खास्त किए गए अधिकारी डेरेक चॉविन के खिलाफ गवाही दी और उस दलील का विरोध किया कि चॉविन ने फ्लॉयड को काबू करने के लिए वह किया, जिसका उन्हें प्रशिक्षण दिया गया था।

पुलिस प्रमुख सहित कई अधिकारी इस मामले में गवाही दे चुके हैं कि फ्लॉयड की गर्दन पर घुटना रखकर, उसका सिर नौ से 12 मिनट तक जमीन पर नहीं रखा जाना चाहिए था।

मंगलवार को पेश किए गए साक्ष्यों के अनुसार, चॉविन ने मानसिक परेशानियों से ग्रस्त या मादक पदार्थ के इस्तेमाल के प्रभाव में किसी भी व्यक्ति को पहचानने और उससे निपटने के लिए 2016 में 40 घंटे का प्रशिक्षण लिया था।

शहर के पहले अश्वेत पुलिस प्रमुख मेडारिया अराडोंडो ने पिछले साल मई में जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद चॉविन और तीन अन्य अधिकारियों को बर्खास्त कर दिया था और जून में इसे “हत्या” करार दिया था।

श्वेत पुलिस अधिकारी चॉविन (45) पर 46 वर्षीय फ्लॉयड की हत्या का आरोप है। आरोप है कि चॉविन ने नौ मिनट 29 सेकंड तक फ्लॉयड की गर्दन अपने घुटने से दबाई, जिससे उसकी मौत हो गई। चॉविन को दोषी पाए जाने पर 40 साल की जेल की सजा हो सकती है।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Wikimedia commons

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: