झामुमो ने टीसीपीएल मुख्यालय महाराष्ट्र स्थानांतरित करने के खिलाफ टाटा कारखानों के सामने धरना दिया

जमशेदपुर, झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) ने टाटा कमिंस सहित टाटा समूह की कुछ कंपनियों के प्रधान कार्यालय स्थानांतरित करने के विरोध में बुधवार को यहां टाटा समूह की कंपनियों के मुख्य प्रवेश द्वारों के साथ-साथ पश्चिमी सिंहभूम जिले में टाटा द्वारा संचालित खदानों के सामने धरना दिया।

वहीं, टाटा कमिंस प्राइवेट लिमिटेड (टीसीपीएल) ने एक बयान में हालांकि, जमशेदपुर से परिचालन झारखंड राज्य के बाहर स्थानांतरित करने से इनकार किया।

घाटशिला से झामुमो विधायक एवं पूर्वी सिंहभूम पार्टी जिला अध्यक्ष रामदास सोरेन के साथ ही विधायक संजीव सरदार (पोटका) और मंगल कलिनिदी (जुगसलाई) के नेतृत्व में सत्ताधारी दल के कार्यकर्ताओं ने प्रवेश द्वारों के सामने धरना दिया जिससे यातायात बाधित हुआ।

सोरेन ने पीटीआई-भाषा से कहा कि वे टाटा कंपनी के प्रधान कार्यालयों को झारखंड से बाहर स्थानांतरित करने का विरोध कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि टाटा मोटर्स और टाटा कमिंस ने महाराष्ट्र जाने की योजना बनाई है।

हालांकि, टाटा मोटर्स का पहले ही कई वर्षां से मुंबई में प्रधान कार्यालय पंजीकृत है, जबकि टाटा कमिंस ने लगभग तीन साल पहले अपना प्रधान कार्यालय पुणे स्थानांतरित कर दिया था। दोनों कंपनियों की जमशेदपुर में बड़ी उत्पादन इकाइयां हैं और दोनों ने जमशेदपुर के औद्योगिक शहर से बाहर निकलने का कोई संकेत नहीं दिया है।

यहां टेल्को इलाके में टाटा मोटर्स के मुख्य द्वार पर पार्टी कार्यकर्ताओं के धरने का नेतृत्व कर रहे सोरेन ने कहा, ‘‘हमने उन्हें जमीन दी है, हमारे लोग विस्थापित हुए ताकि टाटा यहां हमारी जमीन पर अपने संयंत्र स्थापित कर सके। अब वे महाराष्ट्र जाना चाहते हैं। हम इसे स्वीकार नहीं कर सकते।’’

झामुमो ने प्रस्ताव वापस नहीं लेने पर आंदोलन तेज करने की धमकी दी।

दीपक बिरुआ सहित झामुमो नेताओं ने नोवामुंडी, बड़ाजामदा में टाटा की खदानों और पश्चिमी सिंहभूम जिले में ‘लोडिंग साइट’ के सामने इसी तरह के धरने का नेतृत्व किया।

इस बीच, सिंहभूम चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज (एससीसीआई) ने आंदोलन का कड़ा विरोध करते हुए कहा कि सत्तारूढ़ दल द्वारा इस तरह के कृत्यों से राज्य में संभावित निवेश के अवसरों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा।

टाटा समूह के सूत्रों ने कहा कि आंदोलन के दौरान उनके संयंत्रों में उत्पादन और अन्य गतिविधियां सामान्य रहीं।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Getty Images

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: