डब्ल्यूटीसी फाइनल में मयंक को सलामी बल्लेबाज के रूप में उतारे भारत : हेसन

नयी दिल्ली, लंबे समय तक न्यूजीलैंड के कोच रहे माइक हेसन ने भारतीय टीम प्रबंधन को विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल में मयंक अग्रवाल को सलामी बल्लेबाज के रूप में उतारने की सलाह दी।

उन्होंने इसके साथ ही कहा कि डब्ल्यूटीसी फाइनल से पहले इंग्लैंड के खिलाफ दो टेस्ट मैच खेलना न्यूजीलैंड के लिये कार्यभार प्रबंधन संबंधी मुद्दा बन सकता है।

भारत के लिये हाल में रोहित शर्मा और शुभमन गिल पारी का आगाज करते रहे हैं और हेसन को भी लगता है कि भारतीय टीम प्रबंधन इसमें बदलाव नहीं करेगा लेकिन उनका मानना है कि अग्रवाल को मौका दिया जाना चाहिए।

अग्रवाल ने पिछले साल न्यूजीलैंड दौरे में दो टेस्ट मैचों की श्रृंखला में भारत की तरफ से सर्वाधिक रन बनाये थे। वह भारत की तरफ से अर्धशतक लगाने वाले चार बल्लेबाजों में शामिल थे।

हेसन ने पीटीआई से कहा, ‘ वे संभवत: रोहित और शुभमन के साथ उतरेंगे लेकिन मुझे लगता है कि मयंक के नाम पर विचार किया जाना चाहिए। उसने न्यूजीलैंड में उसके आक्रमण का सामना किया है और उसके पास कीवी गेंदबाजों को खेलने का अच्छा अनुभव है। ‘ भारत को कोविड—19 से जुड़े प्रतिबंधों के कारण 18 जून से साउथम्पटन में होने वाले डब्ल्यूटीसी फाइनल से पहले अभ्यास का खास मौका नहीं मिला है। दूसरी तरफ न्यूजीलैंड की टीम इंग्लैंड के खिलाफ दो मैचों की श्रृंखला खेल रही है लेकिन हेसन ऐसा नहीं चाहते थे।

उन्होंने कहा, ‘यह (लगातार तीन टेस्ट मैच खेलना) मुद्दा हो सकता है। न्यूजीलैंड को अपने गेंदबाजी आक्रमण पर गौर करना होगा और इसलिए संभवत: इस मैच (इंग्लैंड के खिलाफ गुरुवार से शुरू होने वाले दूसरे टेस्ट) में ट्रेंट बोल्ट खेलेगा।’ उन्होंने कहा, ‘इससे अन्य तेज गेंदबाजों को विश्राम का मौका मिलेगा क्योंकि प्रत्येक टेस्ट मैच केवल चार दिन का अंतर है। ऐसे में बाकी गेंदबाजों का कार्यभार प्रबंधन बड़ा मुद्दा है। ‘ फाइनल से पहले भारत की तैयारियों के बारे में हेसन ने कहा, ‘मैच अभ्यास हमेशा उपयोगी होता है लेकिन हर मैदान अलग तरह का होता है। साउथम्पटन मैदान के मामले में अनोखा है और इसलिए निश्चित तौर पर मैच अभ्यास का फायदा मिलेगा।’ उन्होंने कहा, ‘लेकिन भारत बड़ी टीम लेकर आया है और वह टीम के बीच ही मैच खेल सकता है इसलिए मुझे लगता है कि मैच में इससे बहुत ज्यादा फर्क पड़ेगा। ‘

यह मैच ड्यूक गेंदों से खेला जाएगा जिनसे अधिक स्विंग और मूवमेंट मिलता है लेकिन हेसन का मानना है कि मैच आगे बढ़ने के साथ स्पि​नरों की भूमिका भी अहम होगी इसलिए भारत को तीन तेज गेंदबाजों के साथ रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा को भी अंतिम एकादश में रखना चाहिए।

न्यूजीलैंड के मामले में वह कोलिन डि ग्रैंडहोम या मिशेल सेंटनर के साथ चार तेज गेंदबाजों को टीम में रखना पसंद करेंगे।

हेसन ने कहा, ‘वे (अश्विन और जडेजा) वास्तव में भारत को अच्छा संतुलन प्रदान करते हैं। इसका मतलब है कि आपके पास पांच मुख्य गेंदबाज होंगे जिससे आप दायें हाथ के बल्लेबाजों और बायें हाथ के बल्लेबाजों पर समान रूप से आक्रमण कर सकते हो। यह नहीं भूलना चाहिए कि न्यूजीलैंड की टीम में पांच वामहस्त बल्लेबाज हैं।’ हेसन को उम्मीद है कि ऋषभ पंत छठे नंबर पर बल्लेबाजी करेंगे ​और अपना आस्ट्रेलिया वाला प्रदर्शन दोहराने में सफल रहेंगे।

उन्होंने कहा, ‘वह अब अंत​रराष्ट्रीय क्रिकेट को बेहतर समझ चुका है और आत्मविश्वास से भरा है। इसलिए वह वैसा खेलने में सक्षम है जैसा वह चाहता है। ‘

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Wikimedia commons

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: