डीटीएम चैम्पियनशिप के कुछ रेसों को पोडियम में खत्म करने का लक्ष्य: अर्जुन

नयी दिल्ली, जर्मनी की डीडीएम सीरीज में पूर्णकालिक रेसिंग करार हासिल करने वाले पहले भारतीय ड्राइवर अर्जुन मैनी को उम्मीद है कि चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों के बाद भी वह अपनी टीम ‘मर्सीडिज-एएमजी परफोर्मेंस टीम गेटस्पीड’ के साथ कुछ रेस में पोडियम (शीर्ष तीन) पर पहुंच सकते हैं।

बेंगलुरू के 23 साल के अर्जुन जून में डीटीएम टूर कार चैम्पियनशिप में चुनौती पेश करते हुए दिखेंगे।

अर्जुन ने यहां ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘ हर कोई जानता है कि डीटीएम चैंपियनशिप कितनी बड़ी है। मैं बड़े होने के दौरान इसे देखता था और अब मर्सीडिज-एएमजी ड्राइवर के रूप में डीटीएम का हिस्सा बनना एक सम्मान की बात है। मैं सच में उत्साहित हूँ।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ हर ड्राइवर जीतना चाहता हैं लेकिन यह बहुत मुश्किल है और मैं पहले दिन से ही कड़ी मेहनत करना चाहता हूं।’’

अर्जुन ने कहा, ‘‘हमने पिछले सप्ताह अच्छी शुरुआत की थी। बेशक हम कुछ पोडियम और रेस जीतना चाहते हैं लेकिन मैं उन छोटे कदमों पर ध्यान केंद्रित कर रहा हूं जो इसे पूरा करने के लिए जरूरी है।’’

डीटीएम 2021 सत्र की शुरूआत 18 जून को आठ चरण और 16 रेसों के साथ इटली के मोंजा में होगी। मोंजा के अलावा इन रेसों का आयोजन नूरबुर्गरिंग, एसेन, हॉकहाइमरिंग और यूरोप के कुछ अन्य प्रमुख रेस ट्रैक पर होगा।

प्रतियोगिता के स्तर बारे में पूछे जाने पर अर्जुन ने कहा, ‘‘ यह बहुत मुश्किल और चुनौतीपूर्ण होगा। मुझे उम्मीद है कि मैं अपने खेल के शीर्ष पर रहूंगा। मुझे शीर्ष स्तर पर लगातार अच्छा प्रदर्शन करना होगा।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ मोंजा में होने वाले शुरूआती क्वालीफाइंग रेस से पहले प्रतियोगिता के बारे में ज्यादा नहीं कह सकता हूं। बहुत सारे अच्छे ड्राइवर और टीमें हैं। डीटीएम में पहला भारतीय ड्राइवर होना शानदार है और उम्मीद है कि भारतीय टीम को कुछ अच्छे परिणाम मिलेंगे।’’

अर्जुन ने इससे पहले फर्मुला थ्री यूरोपीय चैम्पियनशिप और जीपीथ्री और फार्मुला टू चैम्पियनशिप में भाग लिया है लेकिन वहां उन्हें उम्मीदों के मुताबिक सफलता नहीं मिली। उन्होने 2019-20 में 24 घंटे के रेस यूरोपीय ली मेंस सीरीज में भाग लिया था।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Wikipedia

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: