डीटीसी ने एक हजार बसों की खरीद ठंडे बस्ते में डाली, भाजपा ने प्रक्रिया में भष्टाचार का आरोप लगाया

नयी दिल्ली, दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) ने एक हजार बसों की खरीद को ठंडे बस्ते में डाल दिया है, जिसके बाद भाजपा ने प्रक्रिया में भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए सीबीआई जांच की मांग की है।

डीटीसी के प्रबंध निदेशक की ओर से 11 जून को जारी आदेश में कहा गया है कि एक हजार बसों की खरीद और उनके वार्षिक रखरखाव अनुबंध (एएमसी) को अगले आदेश तक ‘ठंडे बस्ते में डाल दिया गया है।’

दिल्ली सरकार ने आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि उपराज्यपाल द्वारा जांच बिठाने के चलते खरीद प्रक्रिया रोकी गई है।

डीटीसी ने इस साल की शुरुआत में एक हजार लो-फ्लोर बसों की खरीद के लिए निविदा आमंत्रित की थी। बसों की एएमसी के लिये अलग से निविदा जारी की गई थी।

दिल्ली के भाजपा विधायक और पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष विजेन्द्र गुप्ता ने बसों की खरीद में भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए दावा किया कि इसका मकसद निजी कंपनियों को फायदा पहुंचाना था।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Wikimedia commons

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: