‘द फैमिली मैन’ के दूसरे सीजन का निर्माण काफी चुनौतीपूर्ण रहा : निर्देशक

मुंबई, फिल्मकार राज निदिमोरु और कृष्णा डीके ने बृहस्पतिवार को सोशल मीडिया पर ‘द फैमिली मैन’ सीरीज के दूसरे सीजन के निर्माण के समय पेश हुई चुनौतियों को अपने प्रशंसकों के साथ साझा किया।

‘द फैमिली मैन’ सीरीज के दूसरे सीजन में अभिनेता मनोज बाजपेयी एक बार फिर श्रीकांत तिवारी का किरदार निभाते नजर आएंगे। दक्षिण भारतीय फिल्मों की अदाकारा समांथा अक्किनेनी, राजी नाम का किरदार निभाती दिखेंगी।

‘अमेजन प्राइम वीडियो’ पर सीरीज के दूसरे सीजन के प्रसारित होने से कुछ घंटे पहले निर्देशक राज निदिमोरु और कृष्णा डीके ने लिखा, ‘‘ कोई भी ‘प्रोजेक्ट’ पूरा होने के बाद हर फिल्मकार के पास उसके निर्माण से जुड़ी अच्छी व बुरी बातें बताने को होती हैं। ‘द फैमिली मैन’ का दूसरा सीजन हमारे लिए अभी तक का सबसे चुनौतीपूर्ण काम रहा।’’

उन्होंने लिखा, ‘‘ ये हम सभी के लिए चुनौतीपूर्ण समय है। हममें से कोई भी निजी नुकसान और पीड़ा से अछूता नहीं रहा। हम दिवंगत आत्माओं को श्रद्धांजलि देते हैं और साथ ही अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मियों और लोगों की मदद करने के लिए अथिक प्रयास कर रहे सभी लोगों के साहस और वीरतापूर्ण कार्यों के आभारी हैं।’’

सीरीज के 2019 में आए पहले सीजन की समीक्षकों ने काफी सराहना की थी और यह उस साल की सबसे चर्चित सीरीज भी थी।

फिल्मकार राज निदिमोरु और कृष्णा डीके ने कहा कि वैश्विक महामारी के कारण काम करना सीरीज से जुड़े हर एक सदस्य के लिए कठिनाई भरा था।

उन्होंने कहा, ‘‘ हम सभी के लिए सकारात्मक रहना सबसे मुश्किल था। आप लोगों से मिले प्यार और सराहना के कारण ही हम लगातार अपने काम में लगे रहे।’’

‘द फैमिली मैन’ के दूसरे सीजन को पहले इस साल की शुरुआत में रिलीज होना था, लेकिन ‘अमेजन प्राइम वीडियो’ की सीरीज ‘तांडव’ और ‘मिर्जापुर’ को लेकर हुए विवाद के कारण इसकी रिलीज तारीख को आगे बढ़ा दिया गया हो।

राज्यसभा सांसद एवं एमडीएमके के नेता वायको ने भी केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को पत्र लिखकर और इसकी रिलीज पर रोक लगाने की मांग की थी। उन्होंने कहा था कि सीरीज में तमिल समुदाय के लोगों को नकारात्मक तरीके से दिखाया जा रहा है।

नाम तमिलर काची (एनटीके) के संस्थापक सीमान ने भी इस पर प्रतिबंध लगाए जाने की मांग की थी।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Wikimedia commons

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: