नायडू ने आजादी के अमृत महोत्सव में सांसदों से भागीदारी का आह्वान किया

राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने देश की स्वाधीनता का 75वां वर्ष शुरू होने पर मनाये जाने वाले ‘‘अमृत महोत्सव’’ में उच्च सदन के सदस्यों से अधिक से अधिक संख्या में भाग लेने का बुधवार को आह्वान किया। उन्होंने कहा, ‘‘ आप इस बात से अवगत होंगे कि इस वर्ष 2021 में हम अपनी स्वाधीनता के 75वें वर्ष में प्रवेश करने जा रहे हैं। भारत सरकार ने इस अवसर को मनाने के लिए आजादी के अमृत महोत्सव की योजना बनाई है जो 12 मार्च 2021 से शुरू होकर 15 अगस्त 2023 तक चलेगा।’’

सुबह, उच्च सदन की बैठक शुरू होने पर उन्होंने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव के दौरान देश के अलग अलग राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों में विभिन्न कार्यक्रम, प्रदर्शनी, सोशल मीडिया अभियान, ऑनलाइन कार्यक्रम आदि आयोजित किए जाएंगे।

नायडू ने कहा कि इस महोत्सव की शुरूआत 12 मार्च 2021 को साबरमती से दाण्डी तक की पदयात्रा से होगी। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी की ऐतिहासिक दाण्डी यात्रा की याद में होने वाली यह यात्रा पांच अप्रैल 2021 तक चलेगी। उन्होंने कहा कि बापू ने यह यात्रा 1930 में इसी समय निकाली थी। नायडू ने कहा, ‘‘ निश्चित तौर पर स्वाधीनता के 75वें वर्ष का यह अवसर हम सभी लोगों और नागरिकों के लिए विशेष अवसर है।’’ उन्होंने राज्यसभा के सदस्यों से उनके संबद्ध क्षेत्रों में इस अवसर पर होने वाले कार्यक्रमों में बड़ी संख्या में और विभिन्न हैसियत से भाग लेने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि सदस्यों को इन आयोजनों के माध्यम से उन मूल्यों एवं विचारों का प्रसार करना चाहिए जिनके लिए हमारे स्वाधीनता सेनानी खड़े रहे और जिनकी मदद से देश ने स्वाधीनता प्राप्त की। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने 12 मार्च को साबरमती से दाण्डी यात्रा शुरू की थी जो पांच अप्रैल को पूरी हुई। इस यात्रा के बाद उन्होंने नमक कानून तोड़ कर तत्कालीन ब्रिटिश शासन को चुनौती दी थी।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Wikimedia commons

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: