पंजाब के मुख्यमंत्री ने बिजली विभाग के अतिरिक्त कर्मियों को युक्तिसंगत बनाने पर विचार करने को कहा

चंडीगढ़, पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने राज्य के अतिरिक्त मुख्य सचिव (बिजली) अनुराग अग्रवाल से पंजाब के कुछ हिस्सों में तैनात विभाग के अतिरिक्त कर्मचारियों को युक्तिसंग बनाने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग के मॉडल की समीक्षा करने के लिए कहा।

मुख्यमंत्री ने बिजली विभाग के कामकाज की समीक्षा करते हुए अग्रवाल को सीमाई इलाकों में काम कर रहे शिक्षकों के लिए अलग कैडर का निर्माण करने के तरीके के आधार पर जरूरत के हिसाब से अपने कर्मचारियों की तर्कसंगत तैनाती करने की खातिर एक व्यावहारिक पुनर्गठन नीति का कार्यान्वयन करने का निर्देश दिया।

सिंह ने इसी तरह अग्रवाल से पंजाब राज्य विद्युत निगम लिमिटेड (पीएसपीसीएल) में श्रमबल के उचित इस्तेमाल के लिए अंचल (जोन) के आधार पर नयी भर्ती करने की खातिर तौर तरीके तैयार करने को भी कहा।

उन्होंने विभिन्न विभागों पर बकाया 2,142 करोड़ रुपए के बिजली के बिल को लेकर भी चिंता जतायी। मुख्यमंत्री ने प्रधान वित्त सचिव को इस संबंध में तुरंत भुगतान करने में मदद के लिए संबंधित विभागों को बजटीय आवंटन बढ़ाने का निर्देश दिया।

सिंह ने धान की बुआई के मौजूदा सीजन के दौरान किसानों को आठ घंटे बिजली की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए पीएसपीसीएल को निर्देश भी दिये।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Wikimedia commons

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: