पार्टी प्रभारी अरुण सिंह का तीन दिवसीय दौरा समाप्त होने पर येदियुरप्पा ने ‘विक्टरी साइन’ बनाया

बेंगलुरु, 18 जून (भाषा) मुख्यमंत्री बी. एस. येदियुरप्पा को पद से हटाए जाने की अटकलों के बीच भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव व कर्नाटक प्रभारी अरुण सिंह के तीन दिवसीय कर्नाटक दौरे पर पार्टी की अंदरुनी कलह के बाहर आने के बाद शुक्रवार को उन्होंने पार्टी का अनुशासन भंग करने पर कार्रवाई की चेतावनी दी।

सिंह हालांकि पहले ही नेतृत्व परिवर्तन से इंकार कर चुके थे, लेकिन उन्होंने इस संबंध में सीधे-सीधे कोई टिप्पणी नहीं की। ऐसा कहा जा रहा है कि कर्नाटक भाजपा की कोर समिति की बैठक में सिंह ने स्पष्ट किया कि येदियुरप्पा मुख्यमंत्री पद पर बने रहेंगे।

स्थिति अपने पक्ष में होने का संकेत देते हुए येदियुरप्पा ने राज्य भाजपा कार्यालय से रवाना होने से पहले ‘विक्टरी साइन’ बनाया। हालांकि उन्होंने इसपर कोई टिप्पणी नहीं की कि नेतृत्व मुद्दे पर हुई बैठक में क्या चर्चा हुई।

राज्य के राजस्व मंत्री और कोर समिति के सदस्य आर. अशोक ने बैठक के बारे में पत्रकारों को बताया, ‘‘नेतृत्व के मुद्दे पर चर्चा नहीं हुई… येदियुरप्पा हमारे नेता हैं, उसमें कोई बदलाव नहीं है। हमारे प्रभारी अरुण सिंह ने यह स्पष्ट करने को कहा है।’’

उन्होंने कहा कि येदियुरप्पा को पद से हटाने का कोई सवाल ही नहीं है। उन्होंने कहा, ‘‘सरकार उनके (येदियुरप्पा) नेतृत्व में काम करती रहेगी।’’ उन्होंने कहा कि इस संबंध में सार्वजनिक रूप से बयान देने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का निर्णय लिया गया है।

येदियुरप्पा ने आज दिन में किसी तरह के राजनीतिक संकट से इनकार किया था।

येदियुरप्पा ने कहा, ‘‘कोई राजनीतिक संकट नहीं है…जो कुछ हो रहा है वह महज इसलिए कि एक या दो लोग (विधानमंडल सदस्य) मीडिया में कुछ कह रहे हैं, इससे गलतफहमी पैदा हो रही है…इन एक-दो लोगों का मेरे खिलाफ बोलना कोई नयी बात नहीं है, वे शुरूआत से ही ऐसा कर रहे हैं… अब यह सुर्खियां बटोर रही है। ’’ उन्होंने इंगित किया कि सिंह ने ऐसा करने वालों से मुलाकात तक नहीं की।

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘कोई भ्रम या संकट नहीं है, हम सभी साथ और एकजुट हैं और विकास कार्यों पर ध्यान दे रहे हैं। मेरे मंत्रिमंडल का कोई सहयोगी इन बातों को लेकर परेशान नहीं है… हम ऐसी गतिविधियों में संलिप्त लोगों से बात करने और इन्हें सुलझाने का प्रयास करेंगे।’’

गौरतलब है कि कुछ समय से ये अटकलें जोरों पर हैं कि सत्तारूढ़ भाजपा का एक हिस्सा येदियुरप्पा को पद से हटाने की कोशिश कर रहा है, हालांकि सिंह ने मुख्यमंत्री को पद से हटाये जाने की संभावना से इनकार किया है।

हुबली-धारवाड़ पश्चिम से विधायक अरविंद बेलाड और विजयपुरा विधायक बासनगौड़ा पाटिल यतनाल के बारे में भी बताया जा रहा है कि वे बृहस्पतिवार को सिंह से नहीं मिले। ये दोनों विधायक उस गुट से हैं, जो येदियुरप्पा को हटाने की मांग कर रहा है।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Wikimedia commons

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: