पूर्व चैंपियन हालेप दूसरे दौर में, वीनस बाहर

पेरिस, शीर्ष वरीय रोमानिया की सिमोना हालेप ने लगातार 10 गेम जीतकर रविवार को यहां फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामेंट के महिला एकल के दूसरे दौर में जगह बनाई और अपनी जीत के क्रम को 15 मैच तक पहुंचाया।

काफी सर्द मौसम में हो रहे टूर्नामेंट के पहले दौर के मुकाबले के दौरान 2018 की चैंपियन हालेप एक समय 2-4 से पीछे चल रही थी लेकिन इसके बाद उन्होंने लगातार 10 गेम जीतकर स्पेन की सारा सोरिब्स टोरमो को 6-4,6-0 से हराकर टूर्नामेंट से बाहर का रास्ता दिखा दिया।

अपने 29वें जन्मदिन के मौके पर जीत दर्ज करने वाली हालेप ने कहा, ‘‘अपने जन्मदिन के दिन रोलां गैरो पर खेलना विशेष दिन था। मैं अधिक जश्न नहीं मना सकती क्योंकि मुझे कमरे में रहना है इसलिए मैं एक बोतल पानी पी लूंगी।’’

हालेप की विश्व रैंकिंग दूसरी है लेकिन कोरोना वायरस से जुड़ी चिंताओं के कारण गत चैंपियन ऐश बार्टी ने पेरिस में नहीं खेलने का फैसला किया इसलिए उन्हें शीर्ष वरीयता दी गई है।

हालेप ने फरवरी में प्राग और रोम में खिताब जीते थे जिसके कारण महामारी के कारण टेनिस प्रतियोगिताएं ठप पड़ गईं थी। वह अगले दौर में हमवतन इरिना कैमेलिया बेगु या स्विट्जरलैंड की जिल टेचमैन के बीच होने वाले मैच की विजेता से भिड़ेंगी।

बेलारूस की 10वीं वरीय और अमेरिकी ओपन उप विजेता विक्टोरिया अजारेंका ने डेंका कोविनिच को 6-1, 6-2 से शिकस्त दी। अजारेंका अगले दौर में अन्ना कैरोलिना शिमिदलोवा जिन्होंने अमेरिका की अनुभवी वीनस विलियम्स को 6-4, 6-4 हराया।

विलियम्स लगातार तीसरे साल फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामेंट के पहले दौर की बाधा को पार करने में विफल रही। अमेरिका की 40 साल की वीनस की ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट में यह लगातार तीसरी हार है जबकि वह एक भी जीत दर्ज नहीं कर पाई हैं। इससे पहले वह आस्ट्रेलिया और अमेरिकी ओपन के भी पहले दौर में हार गई थी।

सात बार की ग्रैंडस्लैम चैंपियन वीनस को 2018 से 11 ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट में से आठ के पहले दौर में ही हार का सामना करना पड़ा है।

दूसरी तरफ डेंका के खिलाफ मुकाबले के दौरान अजारेंका हालांकि मैच अधिकारियों से नाराज हो गई जब काफी सर्दी के बीच बारिश के बावजूद उन्होंने मैच नहीं रोका।

अजारेंका ने कहा, ‘‘मैं जम जाऊंगी। मैं यहां कुछ और मिनट इंतजार नहीं कर सकती क्योंकि मुझे काफी ठंड लग रही है। आठ डिग्री तापमान है, मैं फ्लोरिडा में रहती हूं, मुझे गर्म मौसम की आदत है।’’

कोर्ट से जाते हुए अजारेंका ने कहा, ‘‘यह बेवकूफाना है। काफी ज्यादा ठंड है… यहां बत्तखों की तरह बैठे रहने का क्या मतलब है।’’

कोराना वायरस के कारण टूर्नामेंट के लिए प्रत्येक दिन केवल 1000 दर्शकों को ही रोलां गैरो पर आने की इजाजत है।

पुरुष वर्ग में बेल्जियम के 11वें वरीय डेविड गोफिन टूर्नामेंट से बाहर होने वाले पहली वरीयता प्राप्त खिलाड़ी बने। बेल्जियम के इस खिलाड़ी को इटली के 19 साल के यानिक सिनर ने पहले दौर के मुकाबले में 7-5, 6-0, 6-3 से हराया। यानिक की इस साल गोफिन के खिलाफ दूसरी जीत है। उन्होंने इस साल फरवरी में रोटरडम के हार्ड कोर्ट पर भी बेल्जियम के खिलाड़ी को हराया था।

यानिक ने पिछले साल नेक्स्ट जेन एटीपी फाइनल्स का खिताब जीतकर दिखाया था कि वह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ युवा खिलाड़ियों में से एक हैं। वह अगले दौर में फ्रांस के क्वालीफायर बेनजामिन बोंजी से भिड़ेंगे जिन्होंने फिनलैंड के एमिल रुसुवोरी को 6-2, 6-4, 4-6, 6-4 से शिकस्त दी।

अमेरिका के सबेस्टियन कोर्डा ने इटली के आंद्रियास सेप्पी को चार सेट में 6-2, 4-6, 6-3, 6-3 से हराया।

अन्य मुकाबलों में यूनान की 20वीं वरीय मारिया सकारी ने आस्ट्रेलिया की अजला टोमलानोविच को 6-0, 7-5 से हराया जबकि 27वी वरीय रूस की एकाटेरिना एलेक्सांद्रोवा ने आस्ट्रेलिया की ही मेडिसन इंग्लिस को 6-3, 6-3 से हराकर बाहर का रास्ता दिखाया।

बेल्जियम की 16वीं वरीय एलिस मर्टेन्स ने रूस की मार्गरीटा गैस्परयान को 6-2, 6-3 से शिकस्त दी।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: