प्रशांत किशोर पंजाब के मुख्यमंत्री के प्रधान सलाहकार नियुक्त

चंडीगढ़, पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने सोमवार को कहा कि चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर को उनका प्रधान सलाहाकार नियुक्त किया गया है।

यह नियुक्ति काफी महत्व रखती है क्योंकि अगले साल की शुरुआत में पंजाब में विधानसभा चुनाव होने हैं। किशोर की कंपनी, इंडियन पॉलिटिकल एक्शन कमेटी पश्चिम बंगाल के आगामी चुनाव में ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस की सहायता कर रही है।

किशोर ने 2017 के पंजाब विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के चुनाव अभियान को भी संभाला था जब पार्टी 117 सदस्यीय सदन में 77 सीटें जीतकर सत्ता में पहुंची थी।

मुख्यमंत्री कार्यालय ने कहा कि कैबिनेट ने नियुक्ति को मंजूरी दे दी है और किशोर को कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया है। मुख्यमंत्री कार्यालय ने कहा कि उन्हें मानदेय के रूप में एक रुपये की टोकन राशि का भुगतान किया जाएगा।

सिंह ने ट्वीट किया, ‘‘यह बताते हुए खुशी हो रही है कि प्रशांत किशोर प्रधान सलाहाकार के तौर पर मेरे साथ जुड़ गए हैं। पंजाब के लोगों की बेहतरी के लिए उनके साथ काम करने को लेकर आशान्वित हूं।’’

मुख्यमंत्री कार्यालय ने आदेश की एक प्रति संलग्न करते हुए ट्वीट किया कि किशोर को भी पूरी तरह से सुसज्जित सरकारी निवास और शिविर कार्यालय दिया जाएगा, जो कैबिनेट मंत्री के रूप में अनुमेय है।

किशोर को एक निजी सचिव और एक निजी सहायक सहित कर्मचारी प्रदान किए जाएंगे। इसके अलावा, किशोर एक कैबिनेट मंत्री के रूप में मिलने वाली चिकित्सकीय सुविधाओं और चिकित्सा खर्चों की प्रतिपूर्ति के हकदार होंगे।

किशोर की नियुक्ति के नियम और शर्तों के अनुसार उनकी नियुक्ति पंजाब के वर्तमान मुख्यमंत्री के कार्यकाल तक होगी।

इस नियुक्ति पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए अकाली दल ने मुख्यमंत्री पर एक ‘‘जुमलाबाज़’’ की नियुक्ति कर पंजाबियों के घावों पर नमक छिड़कने का आरोप लगाया।

अकाली दल के नेता बिक्रम सिंह मजीठिया ने कहा, ‘‘यह स्पष्ट है कि कांग्रेस पार्टी एक बार फिर लोगों को धोखा देने के प्रयासों के तहत नये झूठ गढ़ने का सहारा ले रही है।’’

किशोर ने वर्ष 2014 के आम चुनाव में नरेंद्र मोदी के अभियान की कमान संभाली थी।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: