बंगाल में चुनाव के बाद हुई हिंसा से संबंधित मामला रद्द कराने के लिए मिथुन चक्रवर्ती ने उच्च न्यायालय का रुख किया

कोलकाता, अभिनेता और भारतीय जनता पार्टी के नेता मिथुन चक्रवर्ती ने कलकत्ता उच्च न्यायालय में याचिका दायर कर अपने खिलाफ चुनाव बाद हिंसा को लेकर दर्ज एक मामला रद्द करने का अनुरोध किया है। चक्रवर्ती पर आरोप है कि उन्होंने कथित तौर पर भाषण में अपनी फिल्मों के चर्चित संवाद बोलकर चुनाव के बाद हुई हिंसा को भड़काया। उनके वकील ने मंगलवार को कहा कि मामले की सुनवाई इस सप्ताह हो सकती है।

चक्रवर्ती ने दावा किया है कि फिल्मों के ऐसे संवाद केवल हास्य-विनोद के लिए बोले गए थे और वह निर्दोष हैं तथा ऐसे किसी अपराध में शामिल नहीं हैं जिसके आरोप शिकायतकर्ता ने लगाए हैं। कोलकाता के मानिकतला पुलिस थाने में दर्ज प्राथमिकी में शिकायतकर्ता ने दावा किया है कि पश्चिम बंगाल चुनाव के दौरान ब्रिगेड परेड मैदान में हुई भाजपा की रैली में अभिनेता ने फिल्मों के चर्चित संवाद बोले थे।

आरोप है कि इन संवादों से राज्य में चुनाव के बाद हुई हिंसा भड़की। चक्रवर्ती ने उच्च न्यायालय में अनुरोध किया है कि सियालदह की अदालत में अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने लंबित मामला रद्द किया जाए।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Wikimedia commons

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: