बटलर की शतकीय पारी से राजस्थान की हैदराबाद पर बड़ी जीत

नयी दिल्ली, जोस बटलर (124) की टी20 करियर की पहली शतकीय पारी और कप्तान संजू सैमसन (48) के साथ दूसरे विकेट के लिए 150 रन की साझेदारी के बूते राजस्थान रॉयल्स ने इंडियन प्रीमियर लीग टी20 मुकाबले में रविवार को यहां सनराइजर्स हैदराबाद को 55 रन से हराकर सत्र की तीसरी जीत दर्ज की।

बटलर ने 64 गेंद की पारी में आठ छक्के और 11 चौके जड़कर मौजूदा आईपीएल में अब तक की सबसे बड़ी पारी खेली। राजस्थान के गेंदबाजों ने भी शानदार प्रदर्शन किया तथा मुस्ताफिजूर रहमान और क्रिस मौरिस ने तीन-तीन विकेट लिये।

राजस्थान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए तीन विकेट पर 220 रन बनाने के बाद हैदराबाद को आठ विकेट पर 165 रन पर रोक दिया। हैदराबाद की सात मैचों में यह छठी हार है और टीम तालिका में सबसे निचले स्थान पर है।

नये कप्तान केन विलियमसन की अगुवाई में उतरी सनराइजर्स हैदराबाद की किस्मत इस मैच में भी नहीं बदली। पूर्व कप्तान डेविड वार्नर को अंतिम 11 में जगह नहीं मिली।

बड़े स्कोर का पीछा करते हुए जॉनी बेयरस्टॉ और मनीष पांडे की जोड़ी ने सनराइजर्स हैदराबाद को शानदार शुरुआत दिलायी लेकिन 57 रन की साझेदारी टूटने के बाद टीम जरूरी रन गति बनाये रखने के दबाव में बिखर गयी।

बेयरस्टॉ ने चौथे ओवर में गेंबदाजी के लिए आये चेतन सकारिया का स्वागत छक्के से करने के बाद लगातार दो चौके लगाये तो वही मनीष पांडे ने कार्तिक त्यागी द्वारा किये गये पांचवें ओवर में दो छक्के जड़े। उन्होंने छठे ओवर में क्रिस मौरिस के खिलाफ लगातार दो चौके लगाये जिससे पावर प्ले में टीम का स्कोर बिना किसी नुकसान के 57 रन हो गया।

स्‍ट्रैटेजिक टाइम आउट के बाद सातवें ओवर की पहली गेंद पर रहमान की धीमी गेंद पर पांडे बोल्ड हो गये। उन्होंने 20 गेंद की पारी में 31 रन बनाये।

तेवतिया ने अगले ओवर में बेयरस्टॉ को आउट कर हैदराबाद को बड़ा झटका दिया। बेयरस्टॉ लांग ऑन के ऊपर से छक्‍का मारना चाहते थे, लेकिन संपर्क अच्‍छा नहीं और अनुज रावत ने अच्छा कैच पकड़ा। उन्होंने 21 गेंद में 30 रन बनाये।

मौरिस के 11वें ओवर में सकारिया ने केन विलियमसन का आसान कैच छोड दिया लेकिन अगली ही गेंद पर डेविड मिलर ने विजय शंकर (08) का कैच पकड़ हैदराबाद को तीसरा झटका दिया।

केदार जाधव ने तेवतिया पर छक्का जड़ा जिससे 12 ओवर में हैदराबाद के रनों का शतक पूरा हुआ।

युवा तेज गेंदबाज त्यागी की धीमी शॉर्ट पिच गेंद को पढ़ने में विलियमसन नाकाम रहे और डीप मिडविकेट पर मौरिस ने कैच पकड़कर 21 गेंद में उनकी 20 की पारी को खत्म किया।

मुस्ताफिजूर ने भी धीमी गेंद पर मोहम्मद नबी को फंसा कर पांच गेंद में दो छक्के जड़ित 17 रन की उनकी संक्षिप्त पारी को खत्म किया। नबी पुल करना चाहते थे लेकिन गेंद कवर क्षेत्र में हवा में लहरा गयी और रावत ने कोई गलती नहीं की।

इसके बाद बल्लेबाजी के आये अब्दुल समद (10) ने चेतन सकारिया पर छक्का लगाया लेकिन 17वें ओवर में मौरिस की गेंद पर रावत ने मैच का अपना तीसरा कैच पकड़ा। इसी ओवर में केदार जाधव (19) को बोल्ड कर मौरिस में मैच का रूख पूरी तरह से राजस्थान की ओर मोड़ दिया।

इससे पहले हैदराबाद के लिए कप्तानी में बदलाव के साथ टीम की रणनीति में भी बदलाव दिखा जब राशिद खान को पावर प्ले में तीसरे ओवर में ही गेंदबाजी आक्रमण पर लगाया गया और उन्होंने इसे साबित करते हुए यशस्वी जायसवाल (12) को पगबाधा किया।

राजस्थान के कप्तान संजू सैमसन ने क्रीज पर कदम रखते ही खलील अहमद की गेंद पर छक्के के साथ खाता खोला। इसी ओवर की चौथी गेंद पर बटलर ने भी अपना पहला चौका जड़ा।

बटलर को राशिद के अगले ओवर में उस वक्त जीनवदान मिला जब लांग ऑन पर विजय शंकर ने उनका मुश्किल कैच टपका दिया। उन्होंने छठे ओवर में गेंदबाजी के लिए आये भुवनेश्वर के खिलाफ के दो चौके जड़े जिससे पावर प्ले में राजस्थान का स्कोर 42 रन हो गया।

बटलर और सैमसन दोनों ने सातवें ओवर में विजय शंकर पर एक-एक छक्का जड़ 18 रन बटोरे।

पारी के 10वें ओवर में संदीप शर्मा की गेंद पर मनीष पंडे ने संजू सैमसन का आसान कैच टपका दिया। बटलर ने इस गेंदबाज के खिलाफ 13वें ओवर में छक्का लगाकर 39 गेंद में अर्धशतक पूरा किया।

सैमसन ने खलील के अगले ओवर में चौका जड़कर बटलर के साथ दूसरे विकेट के लिए शतकीय साझेदारी पूरी की। बटलर ने इसी ओवर में छक्का जड़ा जिससे 14 ओवर के बाद टीम का स्कोर एक विकेट पर 125 रन हो गया।

उन्होंने 15वें ओवर में गेंदबाजी के लिए आये मोहम्मद नबी का स्वागत दो छक्के और इतने ही चौकों के साथ 21 रन बटोर कर किया।

शंकर ने 17वें ओवर में सैमसन को आउट कर हैदराबाद को दूसरी सफलता दिलायी। सैमसन लांग ऑन के ऊपर से छक्का लगाकर अपना अर्धशतक पूरा करना चाहते थे लेकिन बाउंड्री पर अब्दुल समद ने उनका शानदार कैच पकड़ा। उन्होंने साथ 33 गेंद की पारी में चार चौके और दो छक्के लगाये।

बटलर ने इसी ओवर में चौका जड़ने के बाद एक रन लेकर 56 गेंदों में टी20 करियर का पहला शतक पूरा किया। उन्होंने 19वें ओवर में संदीप शर्मा के खिलाफ छक्का लगाकर टीम का स्कोर 200 रन के पार पहुंचाया। इस ओवर की आखिरी गेंद पर बोल्ड होने से पहले उन्होंने तीन छक्के और एक चौका जड़ा । इस ओवर से 24 बने।

मैच की आखिरी गेंद पर डेविड मिलर (नाबाद सात) ने छक्का लगाकर स्कोर को 220 तक पहुंचाया। रियान पराग ने आठ गेंद की नाबाद पारी में 15 रन का योगदान दिया।

राशिद खान हैदराबाद के सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने चार ओवर में 24 रन देकर एक विकेट लिया। शंकर और संदीप को एक-एक सफलता मिली लेकिन दोनों काफी महंगे साबित हुए।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Wikimedia commons

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: