बांग्लादेश में रोहिंग्या शरणार्थी नेता की गोली मार कर हत्या

ढाका, रोहिंग्या शरणार्थियों के एक अंतरराष्ट्रीय प्रतिनिधि की अज्ञात लोगों ने बांग्लादेश के एक शिविर में बुधवार देर रात गोली मार कर हत्या कर दी। पुलिस ने यह जानकारी दी।

कॉक्स बाजार में सशस्त्र पुलिस बटालियन के कमांडर नैमुल हक ने बताया कि कॉक्स बाजार जिले के उखिया में स्थित कुटुपालोंग शरणार्थी शिविर में अज्ञात हमलावरों ने मोहिबुल्ला को गोली मार दी। उन्हें एक अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

अभी किसी समूह ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है और यह अभी स्पष्ट नहीं कि इस हमले की पीछे किसका हाथ है।

मोहिबुल्ला पेशे से एक शिक्षक थे जो बाद में एक शरणार्थी नेता बन गये और अंतरराष्ट्रीय बैठकों में मुस्लिम स्थानीय समूह का प्रतिनिधित्व करने वाले प्रवक्ता थे। वह 2019 में तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ धार्मिक स्वतंत्रता पर एक बैठक के लिए व्हाइट हाउस गए थे और उन्होंने म्यांमा में रोहिंग्या मुसलमानों की व्यथा पर बातचीत की थी।

उसी साल बांग्लादेशी मीडिया ने उनकी कटु आलोचना की थी क्योंकि उन्होंने म्यांमा में सेना की कार्रवाई के दो साल पूरे होने के मौके पर 2,00,000 शरणार्थियों की एक बड़ी रैली का नेतृत्व किया था। म्यांमा में सेना की कार्रवाई के कारण मोहिबुल्ला समेत करीब 7,00,000 शरणार्थियों को पलायन कर पड़ोसी देश बांग्लादेश में शरण लेनी पड़ी।

एक मानवाधिकार निगरानी समूह ने मोहिबुल्ला को रोहिंग्या समुदाय की मुखर आवाज बताया।

मानवाधिकार संगठन एमनेस्टी इंटरनेशनल ने बांग्लादेशी प्राधिकारियों और संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी से शिविरों में शरणार्थियों, कार्यकर्ताओं और मानवीय सहायता कर्मियों समेत सभी लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए एक साथ मिलकर काम करने का अनुरोध किया।

गौरतलब है कि बांग्लादेश में म्यांमा से आए 11 लाख से अधिक रोहिंग्या शरणार्थियों ने शरण ले रखी है।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Getty Images

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: