ब्रिटेन ने प्रतिभागियों को कोविड-19 से संक्रमित करने से जुड़े परीक्षण को मंजूरी दी

लंदन, ब्रिटेन के नियामकों ने दुनिया के पहले ‘‘कोरोना वायरस ह्यूमन चैलेंज ट्रायल’’ को मंजूरी दे दी है। इसके तहत संक्रमण के प्रसार पर अध्ययन के लिए प्रतिभागी जानबूझकर संक्रमित होंगे।

सरकार ने बुधवार को कहा कि ब्रिटेन के क्लीनिकल ट्रायल से संबंधित नियामक ने परीक्षण को मंजूरी दे दी है और एक महीने के भीतर यह शुरू होगा। इस परीक्षण का मकसद कोविड-19 से बचाव के लिए और प्रभावी टीका तथा उपचार पद्धति को विकसित करना है।

अध्ययनकर्ता 18-30 साल उम्र के 90 प्रतिभागियों की तलाश कर रहे हैं जिन्हें ‘‘सुरक्षित और नियंत्रित माहौल में’’ कोविड-19 से संक्रमित किया जाएगा।

अध्ययन के जरिए पता लगाया जाएगा कि किसी के संक्रमित होने के लिए वायरस की कितनी मौजूदगी होनी चाहिए।

युवाओं से स्वेच्छा से इस परीक्षण में हिस्सा लेने को कहा गया है क्योंकि कोरोना वायरस से गंभीर खतरे का उन्हें बहुत कम जोखिम है। अध्ययन के दौरान प्रतिभागियों पर लगातार नजर रखी जाएगी।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: