भारत जलवायु समझौते पर नई वैश्विक हरित ग्रिड पहल शुरू करेगा

लंदन, ब्रिटेन और भारत ब्रिटिश प्रधानमंत्री बॉरिस जॉनसन एवं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच मंगलवार को डिजिटल सम्मेलन के दौरान नयी साझी प्रतिबद्धताओं के माध्यम से जलवायु परिवर्तन की चुनौतियों से निपटने के लिए तत्काल उठाये जाने वाले कदम पर राजी हुए।

व्यापक 2030 रोडमैप के तहत दोनों नेताओं ने एक नये साझा रोडमैप पर हस्ताक्षर किये जिसमें धरती के बढ़ते तापमान को सीमित करने में मददगार उपाय एवं जलवायु परिवर्तन से सबसे अधिक जोखिम की आशंका वाले समुदायों को सहयोग पहुंचाने के तौर तरीके शामिल हैं।

उसमें स्वच्छ ऊर्जा परिवर्तन पर नया सहयेाग शामिल है। साथ ही नंवबर में ब्रिटेन की मेजबानी में ग्लासगो में होने वाले सीओपी 26 सम्मेलन में नई वैश्विक हरित ग्रिड पहल का प्रस्ताव है ताकि नवीकरणीय ऊर्जा पर अंतर्संबंधित ग्रिड पर विभिन्न देश मिलकर काम करें और भारत के ‘ एक सूर्य, एक विश्व एक ग्रिड’ के सपने को साकार करने में मदद मिले।

ब्रिटेन के कैबिनेट मंत्री और सीओपी 26 के नामित अध्यक्ष आलोक शर्मा ने कहा, ‘‘ब्रिटेन और भारत के बीच पुरानी साझेदारी है और मैं उन कदमों से उत्साहित हूं जो हमने जलवायु परिवर्तन से निपटने के मकसद से अपने संयुक्त प्रयास को तेज करने के लिए आज उठाये हैं।’’

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Flickr

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: