महामारी के दौरान लोगों के संघर्ष पर चर्चा करने के लिये ‘जिंदगी का सफर’ का विचार आया: खेर

ह्यूस्टन, भिनेता अनुपम खेर का कहना है कि ‘जिंदगी का सफर’ शुरू करने का उनका इरादा अचानक बना क्योंकि वह उन साझा संघर्षों पर चर्चा करना चाहते थे , जिनका लोगों ने कोविड-19 महामारी के दौरान सामना किया है।

यात्रा के तहत 66 वर्षीय अभिनेता ने अमेरिका के प्रमुख शहरों में लाइव संवाद किया है। उनका सफर 27 अगस्त को डलास से शुरू होकर 16 सितंबर को नैशविले में समाप्त हुआ।

खेर ने कहा कि अमेरिका यात्रा का उनका प्राथमिक उद्देश्य आगामी फिल्म ‘शिव शास्त्री बलबो’ की शूटिंग करना था, जिसमें नीना गुप्ता, जुगल हंसराज, शारिब हाशमी व नरगिस फाखरी भी अभिनय करते नजर आएंगे।

उन्होंने ‘पीटीआई-भाषा’ को दिये साक्षात्कार में कहा, ‘मैं सिर्फ इस फिल्म के लिए आया था और एक और फिल्म की शूटिंग के लिए घर वापस जाने वाला था, जिसकी तारीख अक्टूबर तक के लिये टल गई। लेकिन सूरज बड़जात्या की फिल्म के लिए मुझे उस फिल्म को छोड़ना पड़ा।’

अभिनेता ने भारत वापस जाने से एक दिन पहले कहा, ‘लिहाजा, मेरे पास कुछ समय था और इसलिये मैंने यहीं रहने का फैसला किया तथा ‘जिंदगी का सफर’ के लिए डलास, अटलांटा, सैन जोस, न्यू जर्सी, वाशिंगटन, इंडियानापोलिस और नैशविले शहर के दौरे की योजना बनाई।’

खेर ने कहा कि ‘शिव शास्त्री बलबो’ की शूटिंग के दौरान वह बहुत से भारतीय-अमेरिकियों से मिले, जो महामारी के कारण ‘अनिश्चितता की भावना’ महसूस कर रहे थे। और तभी उन्होंने ये लाइव संवाद कार्यक्रम करने के बारे में सोचा जो लोगों और उनके लिए एक ‘सुखद’ अनुभव रहा।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Getty Images

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: