राजस्थान के जयपुर सहित 6 जिलों में स्थापित होंगे आयुर्वेद व प्राकृतिक चिकित्सा महाविद्यालय

जयपुर, राजस्थान में जयपुर सहित 6 जिलों में आयुर्वेद, योग व प्राकृतिक चिकित्सा से संबंधित महाविद्यालयों की स्थापना की जाएगी। इन जिलों में महाविद्यालय की स्थापना के लिए स्वीकृति जारी कर दी गई है।

चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं आयुर्वेद मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के दौर में आयुर्वेद पद्धति की महत्ता भी प्रतिपादित हुई है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार आयुर्वेद पद्धति के प्रचार-प्रसार व इससे संबंधित सुविधाओं को विकसित करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि आयुर्वेद विभाग में नयी भर्तियों व महाविद्यालयों की स्थापना से इस पद्धति का लाभ अधिक से अधिक लोगों तक पहुंच सकेगा।

उन्होंने कहा कि जयपुर, कोटा, सीकर, बीकानेर व भरतपुर में राजकीय आयुर्वेद व योग व प्राकृतिक चिकित्सा एकीकृत महाविद्यालयों की स्थापना की जाएगी। उन्होंने कहा कि उदयपुर में राजकीय योग व प्राकृतिक चिकित्सा महाविद्यालय की स्थापना के लिए भी स्वीकृति दे दी गई है।

आयुर्वेद मंत्री ने कहा कि नये महाविद्यालयों की स्थापना के साथ ही इस क्षेत्र में रोजगार के नवीन अवसर भी उपलब्ध होंगे। उन्होंने कहा कि इन महाविद्यालयों की स्थापना की स्वीकृति के साथ 778 शैक्षणिक व अशैक्षणिक नवीन पदों के सृजन की भी स्वीकृति दी गई है जिससे युवाओं को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे।

मंत्री के अनुसार राज्य में ‘मेडीट्यूरिज्म’ की अपार संभावनाओं को देखते हुए धार्मिक व पर्यटन स्थलों पर ऐसे केन्द्रों की जल्द ही स्थापना की जाएगी।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Twitter

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: