राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री ने पैरालंपिक में रजत पदक जीतने के लिए भाविनाबेन को बधाई दी

नयी दिल्ली, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को तोक्यो खेलों में एतिहासिक रजत पदक जीतने के लिए टेबल टेनिस खिलाड़ी भाविनाबेन पटेल को बधाई दी। मौजूदा पैरालंपिक खेलों में यह भारत का पहला पदक है।

भाविनाबेन को टेबल टेनिस क्लास 4 स्पर्धा के महिला एकल फाइनल में दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी चीन की झाउ यिंग के खिलाफ 0-3 से शिकस्त का सामना करना पड़ा लेकिन वह पैरालंपिक खेलों में पदक जीतने वाली दूसरी भारतीय महिला खिलाड़ी बनने में सफल रहीं।

राष्ट्रपति कोविंद ने ट्वीट किया, ‘‘भाविना पटेल ने पैरालंपिक में रजत पदक जीतकर भारतीय दल और खेल प्रेमियों को प्रेरित किया है। आपकी असाधारण प्रतिबद्धता और कौशल ने भारत को गौरवांवित किया है। इस शानदार उपलब्धि पर आपको मेरी ओर से बधाई।’’

चौंतीस साल की भाविना को पैरालंपिक की दो बार की स्वर्ण पदक विजेता झाउ के खिलाफ 19 मिनट में 7-11 5-11 6-11 से हार का सामना करना पड़ा।

इस पदक के साथ भारत ने मौजूदा खेलों में अपना खाता खोला।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भाविनाबेन की उपलब्धि युवाओं के लिए प्रेरणा है।

मोदी ने ट्वीट किया, ‘‘भाविना पटेल ने इतिहास रचा। उन्होंने एतिहासिक रजत पदक जीता है। इसके लिए उन्हें बधाई। जीवन में उनकी यात्रा प्रेरणादायी है और यह अधिक युवाओं को खेलों से जोड़ेगी।’’

प्रधानमंत्री ने भाविनाबेन से बात भी की और उन्हें इस शानदार उपलब्धि पर बधाई दी। उन्होंने इस खिलाड़ी को भविष्य के लिए भी शुभकामनाएं दी।

गुजरात के मेहसाणा के बड़नगर के सुंधिया गांव की रहने वाली भाविनाबेन से मोदी ने कहा कि वह भी कई बार सुंधिया जाते हैं। उन्होंने पूछा कि क्या अब भी उनका परिवार वहां रहता है।

भाविनाबेन ने कहा कि उनके माता-पिता अब भी वहां रहते हैं।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन और कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी सोशल मीडिया पर उन्हें बधाई दी।

सीतारमन ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘पैरा टेबल टेनिस में रजत पदक जीतने के लिए भाविना पटेल को बधाई। आपकी दृढ़ता और सफलता कई लोगों के लिए प्रेरणा बनेगी।’’

राहुल गांधी ने लिखा, ‘‘रजत पदक जीतने के लिए भाविना पटेल को बधाई। भारत आपकी उपलब्धि की सराहना करता है। आपने देश को गौरवांवित किया है।’’

भारत के पहले व्यक्तिगत ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता अभिनव बिंद्रा ने लिखा, ‘‘रजत पदक जीतकर भाविना पटेल ने शानदार प्रदर्शन किया और तोक्यो 2020 पैरालंपिक में भारत का खाता खोला। कौशल और मानसिक दृढ़ंता का शानदार प्रदर्शन। बेहद गर्व है।’’

भारतीय पैरालंपिक समिति की मौजूद अध्यक्ष दीपा मलिक पैरालंपिक खेलों में पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला थीं। उन्होंने पांच साल पहले रियो खेलों में गोला फेंक में रजत पदक जीता था।

भाविनाबेन को बधाई देते हुए दीपा ने कहा, ‘‘भाविना का प्रदर्शन देखना शानदार रहा, उन्होंने प्रतियोगिता में अपने खेल से विरोधियों को हैरान कर दिया।’’

उन्होंने कहा, ‘‘उसका खेल, कौशल, धैर्य, वापसी करना, एकाग्रता बनाए रखना, इसे बयां करने के लिए शब्द नहीं हैं, यह विश्व स्तरीय है।’’

दीपा ने कहा कि भाविनाबेन ने दिव्यांगता से जुड़ी वर्जनाओं को तोड़ दिया।

उन्होंने कहा, ‘‘निजी तौर पर मुझे लगता है कि यह एक व्यक्ति से दूसरे को जिम्मेदारी देना है। मैं हमेशा चाहती हूं कि महिलाएं आगे आएं और प्रतिनिधित्व करें जिससे कि हम दिव्यांगता से जुड़ी वर्जनाओं को तोड़ सकें और भाविना ने ऐसा ही किया।’’

पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग, वीवीएस लक्ष्मण और अनिल कुंबले ने भी एतिहासिक पदक के लिए भाविनाबेन को बधाई दी।

सहवाग ने लिखा, ‘‘मौजूदा तोक्यो पैरालंपिक की महिला एकल क्लास 4 टेनिस स्पर्धा में भारत के लिए पहला रजत पदक जीतने के लिए भाविना पटेल को बधाई। एकग्रता, कड़ी मेहनत और मानसिक दृढ़ता का शानदार प्रदर्शन।’’

लक्ष्मण ने ट्वीट किया, ‘‘भारत को रजत पदक। भाविना पटेल को बहुत बहुत बधाई जिन्होंने पैरालंपिक इतिहास में पदक जीतने वाली पहली भारतीय पैरा टेबल टेनिस खिलाड़ी बनकर इतिहास रचा।’’

कुंबले ने लिखा, ‘‘भाविना पटेल आपको बधाइयां। आप पर गर्व है।’’

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Twitter

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: