रोहित की धमाकेदार पारी, मुंबई की केकेआर पर बड़ी जीत

अबुधाबी : ‘हिटमैन’ रोहित शर्मा की अपने पसंदीदा पुल शॉट से सजी लाजवाब पारी के बाद गेंदबाजों के अनुशासित प्रदर्शन से मुंबई इंडियन्स ने बुधवार को यहां कोलकाता नाइटराइडर्स (केकेआर) को 49 रन से हराकर 13वें इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में अपना खाता खोला।
रोहित ने 54 गेंदों पर 80 रन की पारी खेली जिसमें तीन चौके और छह गगनदायी छक्के शामिल हैं। उन्होंने सूर्यकुमार यादव (28 गेंदों पर 47, छह चौके, एक छक्का) के साथ दूसरे विकेट के लिये 90 रन जोड़े। मुंबई ने इन दोनों के महत्वपूर्ण योगदान से पांच विकेट पर 195 रन बनाये।

इसके जवाब में केकेआर की टीम नौ विकेट पर 146 रन ही बना पायी। उसकी तरफ से गेंदबाजी में नाकाम रहे और आठवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिये उतरे पैट कमिन्स ने सर्वाधिक 33 रन बनाये जिसमें जसप्रीत बुमराह (32 रन देकर दो) के एक ओवर में लगाये चार छक्के शामिल हैं। ट्रेंट बोल्ट, जेम्स पैटिनसन और राहुल चाहर ने भी मुंबई की तरफ से दो . दो विकेट लिये।

केकेआर ने 2013 के बाद पहली बार आईपीएल में अपना पहला मैच गंवाया जबकि मुंबई ने यूएई में छह हार के बाद पहली जीत दर्ज की थी। इससे पहले उसने यहां 2014 में पांचों मैच गंवाये थे जबकि इस बार उद्घाटन मैच में वह चेन्नई सुपरकिंग्स से पांच विकेट से हार गया था। मुंबई की यह केकेआर के खिलाफ कुल 20वीं जीत है।
केकेआर की शुरुआत बेहद खराब रही। उसका पहला रन नौवीं गेंद पर बना तथा जल्द ही उसके सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल (सात) और सुनील नारायण (नौ) पवेलियन लौट गये।

कप्तान दिनेश कार्तिक (23 गेंदों पर 30) ने कुछ अच्छे शॉट खेले लेकिन चाहर ने दूसरे स्पैल में आते ही उन्हें पगबाधा आउट कर दिया। नितीश राणा (18 गेंदों पर 24) का हार्दिक पंड्या ने सीमा रेखा पर बेहतरीन कैच लपका। कीरेन पोलार्ड का यह आईपीएल में 2015 के बाद पहला विकेट था।

अब इयोन मोर्गन और आंद्रे रसेल पर केकेआर की निगाह टिकी थी। रसेल (11) ने पूर्व में कई बार इस तरह की परिस्थितियों में केकेआर की नैया पार लगायी थी लेकिन बुमराह ने उन्हें बोल्ड करने के बाद इसी ओवर में मोर्गन (16) को भी पवेलियन भेजकर मुंबई की बड़ी जीत सुनिश्चित की।

केकेआर के सबसे महंगे खिलाड़ी कमिन्स गेंदबाजी में तो महंगे साबित हुए लेकिन उन्होंने बल्लेबाजी में अपना कौशल दिखाकर हार का अंतर कम किया। उन्होंने बुमराह के एक ओवर में चार छक्कों की मदद से 27 रन बटोरे। बुमराह ने अपने पहले तीन ओवरों में केवल पांच रन दिये थे।
इससे पहले केकेआर के गेंदबाजों का शुरू में गेंदों पर नियंत्रण नहीं रहा। कमिन्स ने तीन ओवर में 49 रन लुटाये। युवा शिवम मावी ने प्रभावित किया और 32 रन देकर दो विकेट लिये। सुनील नारायण 22 रन देकर एक विकेट लिया।

केकेआर का संदीप वारियर से गेंदबाजी का आगाज करवाना सही नहीं रहा। रोहित ने जहां उन पर छक्का लगाया तो सूर्यकुमार ने चार चौके जमाये लेकिन मावी ने इस बीच न सिर्फ मेडन ओवर किया बल्कि क्विंटन डिकाक (एक) को हवा में लहराता कैच देने के लिये भी मजबूर किया।

कमिन्स जब पांचवें ओवर में गेंदबाजी के लिये आये। उनकी शार्ट पिच गेंदों पर रोहित ने पुल शॉट से दो छक्के लगाये। आंद्रे रसेल और नारायण भी पहले ओवर में नाकाम रहे। ऐसे में कुलदीप यादव आठवें ओवर में छठे गेंदबाज के रूप में आक्रमण पर आये। सूर्यकुमार ने उन पर छक्का जड़ा।
कुलदीप और नारायण ने अगले चार ओवर में गेंद सीमा रेखा तक नहीं जाने दी। इस बीच सूर्यकुमार दूसरा रन चुराने के प्रयास में रन आउट हुए। रोहित ने 39 गेंदों पर टी20 में अपना 61वां अर्धशतक पूरा किया और फिर कुलदीप के आखिरी ओवर में दो छक्के लगाये।

नारायण ने अपने अंतिम तीन ओवर में केवल 11 रन दिये और सौरभ तिवारी (13 गेंदों पर 21) का विकेट लिया लेकिन हार्दिक पंड्या (18) ने भी कमिन्स पर रहम नहीं दिखाया तथा उन पर दो चौके और एक छक्का लगाया। रोहित की पारी का अंत आखिर में मावी ने किया जिन पर उन्होंने हवा में लहराता शॉट खेला।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: