श्रीलंका में तमिल कैदियों को जान से मारने की धमकी देने को लेकर कारागार मंत्री के इस्तीफे की मांग

कोलंबो, श्रीलंका में तमिल राजनीतिक दलों ने तमिल कैदियों को जान से मारने की कथित धमकी देने को लेकर देश के कारागार प्रबंधन राज्य मंत्री लोहान रतवत्ते के इस्तीफे और गिरफ्तारी की मांग की है।

मंत्री ने देश के उत्तरी मध्य क्षेत्र में अनुराधापुर जेल के दौरे पर तमिल कैदियों को कथित तौर पर यह धमकी दी थी।

कोलंबो गजट की खबर के मुताबिक, रतवत्ते ने 12 सितंबर को अनुराधापुर जेल का कथित तौर पर दौरा किया था और दो कैदियों को घुटने के बल बैठने के लिए मजबूर किया था तथा उन्हें जान से मारने की धमकी दी थी।

तमिल नेशनल अलायंस (टीएनए) ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘हम सरकार से मंत्री को कारागार प्रबंधन से फौरन हटाने और उनकी गिरफ्तारी व आरोपित करने तथा रविवार को अनुराधापुर में कैदियों को जान से मारने की कथित धमकी देने की फौरन जांच कराये जाने की मांग करते हैं।’’

एक अन्य तमिल पार्टी तमिल नेशनल पीपुल्स फ्रंट के नेता गलेन पूनाम्बलम ने भी घटना की पुष्टि की।

उन्होंने दावा किया कि मंत्री ने तमिल कैदियों को जान से मारने की धमकी दी थी।

स्थानीय मीडिया में आई खबरों में आरोप लगाया गया है कि उत्तरी मध्य शहर अनुराधापुर रवाना होने से पहले मंत्री ने अपने मित्रों के एक समूह को फांसी का तख्त दिखाने के लिए देर रात कोलंबो में मुख्य जेल का दौरा किया था।

स्थानीय मीडिया की खबरों में कहा गया है कि हालांकि, मंत्री के कार्यालय ने मंत्री की संलिप्तता वाली ऐसी किसी घटना से इनकार किया है।

देश में नियुक्त संयुक्त राष्ट्र प्रतिनिधि ने भी इस कथित घटना की निंदा की है।

कोलंबो गजट न्यूज पोर्टल की खबर के अनुसार, संयुक्त राष्ट्र प्रतिनिधि हान सिंगर हामदी ने कहा कि सरकार का यह कर्तव्य है कि वह कैदियों के अधिकारों का संरक्षण करे।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Wikimedia commons

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: