संयुक्त राष्ट्र की एजेंसी ने रोहिंग्या लोगों की समुद्र में भटकी नौका का पता लगाने के लिए मदद मांगी

कुआलालंपुर, संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी ने सोमवार को कहा कि रोहिंग्या मुस्लिमों को लेकर रवाना हुयी एक नौका के अंडमान सागर में भटक जाने की और उनमें से कई लोगों की भोजन-पानी की कमी की वजह से मौत हो जाने की आशंका है।

एजेंसी ने दक्षिण पूर्व एशियाई देशों से उन्हें बचाने की अपील की है।

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी आयोग ने बताया कि नौका 10 दिन पहले बांग्लादेश के कॉक्स बाजार से रवाना हुयी थी और इंजन खराब होने के बाद करीब एक हफ्ते से समुद्र में भटक रही है।

एजेंसी ने कहा कि अभी तक यह स्पष्ट नहीं है कि नौका पर कितने लोग सवार हैं और नौका कहां पर है लेकिन शरणार्थियों के पास कई दिन से खाना-पानी नहीं होने की खबरें हैं।

यूएनएचसीआर (एशिया प्रशांत क्षेत्र) निदेशक इंद्रिका रातवट्टे ने एक बयान में कहा, ‘‘ कई लोग नाजुक हालात में हैं और संभवत: गंभीर निर्जलन की समस्या का सामना कर रहे हैं। हमारा मानना है कि कई शरणार्थियों की पहले ही मौत हो गई है और मृतकों की संख्या गत 24 घंटे में बढ़ी है।’’

यूएएचसीआर ने कहा कि उसने अंडमान सागर के आसपास के देशों को सतर्क किया है और नौका पर सवार शरणार्थियों की मदद की अपील की है।

एजेंसी ने कहा कि नौका मिलने पर वह मानवीय सहायता एवं पृथकवास सुविधा मुहैया कराने को तैयार है।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: