संयुक्त राष्ट्र प्रमुख के तौर पर दूसरे कार्यकाल के लिए गुतारेस का फिर से निर्वाचित होना तय

संयुक्त राष्ट्र, संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस का विश्व निकाय प्रमुख के रूप में फिर से चुना जाना तय है क्योंकि सुरक्षा परिषद (यूएनएसजी) ने इस पद पर दूसरे कार्यकाल के लिए मंगलवार को उनके नाम की सर्वसम्मति से सिफारिश की।

पंद्रह सदस्यीय सुरक्षा परिषद की बंद कमरे में बैठक हुई जिसमें सदस्यों ने उस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी, जिसमें महासचिव के रूप में दूसरे कार्यकाल के लिए गुतारेस के नाम की सिफारिश की गई है।

संयुक्त राष्ट्र में एस्टोनिया के राजदूत और जून महीने के लिए परिषद के अध्यक्ष स्वेन जुर्गेन्सन ने बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा कि परिषद ने महासभा से सिफारिश की है कि गुतारेस को एक जनवरी, 2022 से पांच साल तक के लिए दूसरे कार्यकाल की खातिर महासचिव नियुक्त किया जाए।

उन्होंने कहा, “हालांकि हमारे सामने केवल एक ही आधिकारिक उम्मीदवार थे लेकिन पिछली बार से चयन की प्रक्रिया नहीं बदली है। अब हम जिम्मेदारी संयुक्त राष्ट्र महासभा को सौंपते हैं।” उन्होंने कहा कि गुतारेस को फिर से चुनने के लिए महासभा में 18 जून को मतदान हो सकता है।

गुतारेस ने कहा कि वह संयुक्त राष्ट्र प्रमुख के रूप में दूसरे कार्यकाल के लिए सिफारिश किए जाने पर बेहद सम्मानित महसूस कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र महासचिव के रूप में दूसरे कार्यकाल के लिए सुरक्षा परिषद द्वारा उनके नाम की सिफारिश करना काफी बड़ा सम्मान है। उन्होंने कहा कि वह सुरक्षा परिषद के सदस्यों के आभारी हैं, जिन्होंने उन पर विश्वास रखा है।

उन्होंने कहा कि पिछले साढ़े चार वर्षों से हम जटिल चुनौतियों का सामना कर रहे हैं और इस दौरान लोगों की सेवा और इस संगठन में शीर्ष पर होना बहुत बड़ा सौभाग्य रहा है। संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि राजदूत टीएस तिरुमूर्ति ने ट्वीट किया, “भारत संयुक्त राष्ट्र महासचिव के दूसरे कार्यकाल की सिफारिश करने वाले सुरक्षा परिषद प्रस्ताव को स्वीकार करने का स्वागत करता है।”

पिछले महीने भारत ने जनवरी 2022 से शुरू होने वाले दूसरे कार्यकाल के लिए विश्व निकाय के प्रमुख के रूप में गुतारेस की उम्मीदवारी का समर्थन किया था। विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने गुतारेस से संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में मुलाकात की थी और उनके दूसरे कार्यकाल के लिए भारत का समर्थन व्यक्त किया था।

जयशंकर ने बैठक के बाद ट्वीट किया था, ‘‘इस चुनौतीपूर्ण समय में संयुक्त राष्ट्र के यूएनएसजी के नेतृत्व को भारत महत्व देता है। दूसरे कार्यकाल के लिए उनकी उम्मीदवारी का समर्थन किया।’’ बाद में संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि जयशंकर ने बताया कि भारत इस चुनौतीपूर्ण समय में संयुक्त राष्ट्र के महासचिव के नेतृत्व को महत्व देता है। दूसरे कार्यकाल के लिए उनकी उम्मीदवारी के भारत के समर्थन से भी उन्हें अवगत कराया गया।

संयुक्त राष्ट्र घोषणा पत्र (चार्टर) के तहत सुरक्षा परिषद की सिफारिश पर महासभा द्वारा महासचिव की नियुक्ति की जाती है। यदि मौजूदा महासचिव सदस्य देशों से पर्याप्त समर्थन प्राप्त कर सकते हैं तो उनके पास दूसरे कार्यकाल का विकल्प होता है

गुतारेस ने एक जनवरी 2017 को संयुक्त राष्ट्र के नौवें महासचिव का कार्यभार संभाला था और उनका पहला कार्यकाल इस साल 31 दिसंबर को समाप्त हो रहा है। अगले महासचिव का कार्यकाल एक जनवरी 2022 से शुरू होगा। पुर्तगाल के पूर्व प्रधानमंत्री गुतारेस ने इससे पहले संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी उच्चायुक्त के रूप में जून 2005 से दिसंबर 2015 तक अपनी सेवाएं दी थीं। पुर्तगाल सरकार द्वारा नामित गुतारेस महासचिव पद के लिए एकमात्र आधिकारिक उम्मीदवार रहे हैं।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Wikimedia commons

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: