सिराज के प्रदर्शन में शानदार सुधार हुआ, डब्ल्यूटीसी फाइनल में खेलना चाहिए: हरभजन

नयी दिल्ली, पूर्व भारतीय स्पिनर हरभजन सिंह मानते हैं कि तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज के प्रदर्शन में ‘शानदार सुधार’ को देखते हुए उन्हें न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप (डब्ल्यूटीसी) में अंतिम एकादश में खिलाया जाना चाहिए।

हरभजन ने यह भी कहा कि सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल को इंग्लैंड और आईपीएल में खराब प्रदर्शन के बाद फार्म में आ जाना चाहिए। डब्ल्यूटीसी फाइनल के लिये टीम के लिये उनके पसंदीदा संयोजन के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि अंतिम एकादश में सिराज को इशांत शर्मा की जगह खिलाना चाहिए।

उन्होंने गुरूवार को कहा, ‘‘अगर मैं कप्तान हूं तो मैं तीन तेज गेंदबाजों को खिलाऊंगा। तो जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी निश्चित होंगे। इस फाइनल में मैं इशांत शर्मा के बजाय मोहम्मद सिराज को लेना चाहूंगा। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘इशांत शानदार गेंदबाज हैं लेकिन इस मैच के लिये मेरी पसंद सिराज है जिन्होंने पिछले दो वर्षों में शानदार सुधार दिखाया है। ’’

हरभजन मानते हैं कि खिलाड़ी की मौजूदा फार्म को हमेशा देखा जाना चाहिए और इस हिसाब से सिराज को देखा जाना चाहिए जिनके ब्रिसबेन में पांच विकेट भारत की सीरीज जीत में काफी अहम रहे थे।

इस ऑफ स्पिनर ने कहा, ‘‘आपको मौजूदा फार्म को देखना चाहिए। सिराज की फार्म, रफ्तार और आत्मविश्वास फाइनल मैच के लिये उन्हें बेहतर विकल्प बनाता है। पिछले छह महीनों की फार्म को देखो तो वह ऐसा गेंदबाज दिखता है जो मौकों के लिये भूखा है। इशांत को पिछले कुछ समय में कुछ चोटों से जूझना पड़ा है, लेकिन वह भारतीय क्रिकेट के लिये शानदार रहे हैं, इसमें कोई शक नहीं। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘अगर आप पिच पर कुछ घास छोड़ दोगे तो सिराज अपनी रफ्तार से खतरनाक होगा। विश्वास कीजिये, न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों के लिये उसे खेलना आसान नहीं होगा क्योंकि वह अपनी तेजी से बॉल को ‘ऑफ द पिच’ भी मूव करता है। वह बल्लेबाजों के लिये मुश्किल कोण में गेंदबाजी कर सकता है। ’’

गिल के बारे में हरभजन ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि पंजाब के प्रतिभाशाली बल्लेबाज ने निश्चित रूप से अपनी कमियों पर काम किया होगा और उम्मीद जतायी कि वह इंग्लैंड में अगले तीन महीनों शानदार प्रदर्शन करेगा।

उन्होंने कहा, ‘‘पहली पारी में 375 से 400 रन का स्कोर भारतीय तेज गेंदबाजी आक्रमण के लिये अच्छा होगा। लेकिन इसके लिये गिल को भी अच्छी बल्लेबाजी करनी होगी। रोहित को विश्व कप के दौरान सफेद गेंद से काफी सफलता मिली है और वह काफी अनुभवी भी हैं। ’’

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Wikimedia commons

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: