सोशल मीडिया पर महिलाओं के साथ अभद्रता पर कड़ी कार्रवाई करेगी केरल सरकार :मुख्यमंत्री

तिरुवनंतपुरम, केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने कहा है कि सोशल मीडिया का दुरुपयोग कर महिलाओं के साथ अभ्रदता करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इस संबंध में मौजूदा कानून पर्याप्त नहीं हुए तो राज्य सरकार उचित प्रावधान बनाने पर विचार करेगी।

महिलाओं के बारे में कथित अपमानजनक वीडियो के मामले में यहां एक यूट्यूबर को मलयाली कलाकार भाग्यलक्ष्मी समेत अनेक सामाजिक कार्यकर्ताओं की नाराजगी का सामना करना पड़ा। इसी मामले के बाद विजयन ने रविवार को फेसबुक पर एक पोस्ट में कहा कि एलडीएफ सरकार बदसलूकी की शिकार हुई पीड़िताओं के साथ खड़ी है।

उन्होंने यह भी कहा कि ‘व्यापक जांच’ का आदेश दिया गया है और सरकार सुनिश्चित करेगी कि पीड़ित महिलाओं को न्याय मिले।

यूट्यूबर विजय पी नायर को सोमवार रात गिरफ्तार कर लिया गया।

जांच अधिकारी ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, ‘‘उन्हें यहां पास में ही कल्लियूर में उनके आवास से गिरफ्तार कर लिया गया।’’

नायर ने पिछले दिनों एक वीडियो डाला था और इसमें उन्होंने कथित तौर पर महिलाओं के अंत:वस्त्र की बात करते हुए 86 वर्षीय कवियत्री और कार्यकर्ता सुगाता कुमारी तथा भाग्यलक्ष्मी समेत अनेक महिलाओं को निशाना बनाया था। इसकी व्यापक आलोचना हुई थी।

भाग्यलक्ष्मी, सामाजिक कार्यकर्ता दीया सना और दो अन्य ने शनिवार को यहां पास में ही नायर के दफ्तर में घुसकर उन पर काला तेल फेंक दिया और सोशल मीडिया पर महिलाओं के बारे में अपमानजनक वीडियो डालने के लिए उनके साथ मारपीट भी की।

पुलिस ने चार महिलाओं की शिकायत के आधार पर नायर के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। वहीं नायर ने भी एक शिकायत में इन महिलाओं पर हमला करने समेत अन्य आरोपों में मामला दर्ज कराया है।

विजयन ने कहा कि सरकार ‘‘महिलाओं का अपमान करने वाली, मानवता और गरिमा को ठेस पहुंचाने वाली गतिविधियों को बहुत गंभीरता से लेती है’’।

उन्होंने कहा, ‘‘जो लोग सोशल मीडिया का दुरुपयोग कर महिलाओं के लिए अपशब्दों का इस्तेमाल करते हैं, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। अगर मौजूदा कानून पर्याप्त नहीं हुए तो उचित विधेयक लाने पर विचार किया जाएगा।’’

इस बीच, ‘इंडियन असोसिएशन ऑफ क्लीनिकल साइकोलॉजिस्ट्स’ की केरल इकाई ने मीडिया को बताया कि नायर द्वारा खुद के मनोचिकित्सक होने का दावा करके इस पेशे के नाम का दुरुपयोग करने के मामले में संगठन उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेगा।

केरल पुलिस के साइबर प्रकोष्ठ ने अपमानजनक वीडियो डालने के मामले में नायर के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

भाषा वैभव वैभव आशीष आशीष 2909 0039 तिरुवनंतपुरम जसजस आवश्यक .तिरुवनंतपुरम प्रादे 209 केरल विजयन महिला लीड अपशब्द सोशल मीडिया पर महिलाओं के साथ अभद्रता पर कड़ी कार्रवाई करेगी केरल सरकार :मुख्यमंत्री तिरुवनंतपुरम, 28 सितंबर (भाषा) केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने कहा है कि सोशल मीडिया का दुरुपयोग कर महिलाओं के साथ अभद्रता करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इस संबंध में मौजूदा कानून पर्याप्त नहीं हुए तो राज्य सरकार उचित प्रावधान बनाने पर विचार करेगी।

महिलाओं के बारे में कथित अपमानजनक वीडियो के मामले में यहां एक यूट्यूबर को मलयाली कलाकार भाग्यलक्ष्मी समेत अनेक सामाजिक कार्यकर्ताओं की नाराजगी का सामना करना पड़ा। इसी मामले के बाद विजयन ने रविवार को फेसबुक पर एक पोस्ट में कहा कि एलडीएफ सरकार बदसलूकी की शिकार हुई पीड़िताओं के साथ खड़ी है।

उन्होंने यह भी कहा कि ‘व्यापक जांच’ का आदेश दिया गया है और सरकार सुनिश्चित करेगी कि पीड़ित महिलाओं को न्याय मिले।

यूट्यूबर विजय पी नायर को सोमवार रात गिरफ्तार कर लिया गया।

जांच अधिकारी ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, ‘‘उन्हें यहां पास में ही कल्लियूर में उनके आवास से गिरफ्तार कर लिया गया।’’

नायर ने पिछले दिनों एक वीडियो डाला था और इसमें उन्होंने कथित तौर पर महिलाओं के अंत:वस्त्र की बात करते हुए 86 वर्षीय कवियत्री और कार्यकर्ता सुगाता कुमारी तथा भाग्यलक्ष्मी समेत अनेक महिलाओं को निशाना बनाया था। इसकी व्यापक आलोचना हुई थी।

भाग्यलक्ष्मी, सामाजिक कार्यकर्ता दीया सना और दो अन्य ने शनिवार को यहां पास में ही नायर के दफ्तर में घुसकर उन पर काला तेल फेंक दिया और सोशल मीडिया पर महिलाओं के बारे में अपमानजनक वीडियो डालने के लिए उनके साथ मारपीट भी की।

पुलिस ने चार महिलाओं की शिकायत के आधार पर नायर के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। वहीं नायर ने भी एक शिकायत में इन महिलाओं पर हमला करने समेत अन्य आरोपों में मामला दर्ज कराया है।

विजयन ने कहा कि सरकार ‘‘महिलाओं का अपमान करने वाली, मानवता और गरिमा को ठेस पहुंचाने वाली गतिविधियों को बहुत गंभीरता से लेती है’’।

उन्होंने कहा, ‘‘जो लोग सोशल मीडिया का दुरुपयोग कर महिलाओं के लिए अपशब्दों का इस्तेमाल करते हैं, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। अगर मौजूदा कानून पर्याप्त नहीं हुए तो उचित विधेयक लाने पर विचार किया जाएगा।’’

इस बीच, ‘इंडियन असोसिएशन ऑफ क्लीनिकल साइकोलॉजिस्ट्स’ की केरल इकाई ने मीडिया को बताया कि नायर द्वारा खुद के मनोचिकित्सक होने का दावा करके इस पेशे के नाम का दुरुपयोग करने के मामले में संगठन उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेगा।

केरल पुलिस के साइबर प्रकोष्ठ ने अपमानजनक वीडियो डालने के मामले में नायर के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: