स्वच्छ ऊर्जा की खातिर अमेरिका-भारत के सहयोग को मजबूत करने के लिए विधेयक पेश

वाशिंगटन, अमेरिका के एक शीर्ष सीनेटर ने स्वच्छ ऊर्जा तथा जलवायु परिवर्तन के क्षेत्रों में भारत और अमेरिका के बीच सहयोग को बढ़ावा देने के लिए एक विधेयक पेश करते हुए इस बात पर जोर दिया कि जब दोनों देश साझा चुनौतियों से निपटने के लिए एक टीम के रूप में काम करते हैं तो उसके ‘‘सकारात्मक परिणाम’’ सामने आते हैं।

विदेशी संबंध मामलों की समिति के अध्यक्ष सीनेटर रॉबर्ट मेनेंडेज ने भारत के साथ स्वच्छ ऊर्जा एवं जलवायु सहयोग को प्राथमिकता देने के लिए एक विधेयक ‘द प्रायोरिटाइजिंग क्लीन एनर्जी एंड क्लाइमेट कॉपरेशन विद इंडिया एक्ट ऑफ 2021’ पेश किया। जलवायु संबंधी मामलों के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के विशेष दूत जॉन केरी के नई दिल्ली में ‘क्लाइमेट एक्शन एंड फाइनेंस मोबिलाइजेशन डायलॉग’ (सीएएफएमडी)’ शुरू करने के एक दिन बाद यह विधेयक पेश किया गया।

मेनेंडेज ने कहा, ‘‘ जलवायु परिवर्तन के साझा खतरे और भारत में बिजली की बढ़ती जरूरत को देखते हुए, अमेरिका-भारत को स्वच्छ ऊर्जा साझेदारी को मजबूत करना चाहिए। इस दिशा में, मैं इस विधेयक को पेश कर रहा हूं, जिसके सकारात्मक परिणाम आएंगे जब हमारे देश साझा चुनौतियों से निपटने के लिए एक टीम के रूप में काम करेंगे।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ ‘यूएस-इंडिया क्लाइमेट एंड क्लीन एनर्जी पार्टनरशिप’ की स्थापना करके, हम न केवल अमेरिका और भारत की सरकार के बीच, बल्कि हमारे विश्वविद्यालयों और निजी क्षेत्रों के बीच भी एक सफल साझेदारी की नींव रख रहे हैं। मुझे भारत के साथ अपने संबंधों को और मजबूत करने के इस प्रयास का नेतृत्व करने पर गर्व है।’’

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Pixabay

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: