हंबनटोटा बंदरगाह समझौते में पट्टा विस्तारित किये जाने संबंधी खबर तथ्यों के विपरीत: चीन

बीजिंग, चीन ने बुधवार को कहा कि श्रीलंका के विदेश मंत्री दिनेश गुणवर्द्धना के हवाले से आयी यह खबर ‘‘तथ्यों के विपरीत’’ है कि हंबनटोटा बंदरगाह को 99 साल के पट्टे लेने संबंधी विवादास्पद समझौते में पट्टे की अवधि इतने और वर्ष विस्तारित किये जाने का प्रावधान है।

श्रीलंका के विदेश मंत्री दिनेश गुणवर्द्धना ने खुलासा किया है कि मैत्रिपाला सिरिसेना के नेतृत्व वाली पूर्ववर्ती सरकार ने हंबनटोटा बंदरगाह को 99 साल के पट्टे पर चीन को दिया था और इसमें आगे भी 99 साल के लिए पट्टे को बढ़ाने का प्रावधान था।

श्रीलंका के अखबार ‘सीलोन टुडे’ ने 20 फरवरी को गुणवर्द्धना के हवाले से यह खबर दी थी।

इस बारे में पूछे जाने पर चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने कहा कि हंबनटोटा बंदरगाह एक महत्वपूर्ण परियोजना है जिसे चीन और श्रीलंका संयुक्त रूप से बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (बीआरआई) के तहत बना रहा है।

श्रीलंका सरकार द्वारा समझौते पर फिर से बातचीत करने का क्या चीन ने विरोध किया है इस बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘संबंधित खबर तथ्यों के विपरीत है।’’

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: