हरियाणा में भाजपा-जजपा नेताओं के कार्यक्रम का किसानों ने विरोध किया

सिरसा/अम्बाला, केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों ने हरियाणा में विभिन्न स्थानों पर धरना दिया और प्रदेश की भाजपा—जजपा गठबंधन सरकार के नेताओं के कार्यक्रमों का विरोध किया । इसके बाद उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि पूर्व उप प्रधानमंत्री चौधरी देवीलाल की प्रतिमा के अनावरण कार्यक्रम का विरोध करने वाले किसान नहीं हो सकते ।

सिरसा स्थित चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय में चौटाला को देवी लाल की 18 फुट ऊंची प्रतिमा का अनावरण करना था। वहीं चरखी दादरी में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाली भाजपा नेता बबिता फोगाट को भी किसानों की नाराजगी का सामना करना पड़ा ।

अम्बाला में किसानों के एक समूह ने राष्ट्रीय राजमार्ग को जाम कर दिया, जिसके बाद हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवर पाल शहर में निर्धारित अपनी बैठक में हिस्सा नहीं ले पाये ।

देवी लाल की प्रतिमा का अनावरण करने के बाद संवाददाताओं से बातचीत में चौटाला ने जोर देकर कहा कि उनके परदादा कृषि समुदाय के लोगों के लिये मसीहा थे। जननायक जनता पार्टी के नेता ने यह टिप्पणी तब की जब वह सिरसा शहर में प्रतिमा का अनावरण करने आये थे और किसानों ने उनके ​कार्यक्रम का विरोध किया।

चौटाला ने कार्यक्रम के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘अगर वे इसका विरोध करते हैं, तो यह दर्शाता है कि वह किसान नहीं हैं । चौधरी देवी लाल किसानों के लिये मसीहा थे ।’ उन्होंने कहा कि देवी लाल अपने आप में संस्थान थे जिनका पूरा जीवन काल लोगों की भलाई के लिये खास कर कृषक समुदाय के लिये समर्पित था ।

पिछले साल केंद्र द्वारा बनाये गये तीन कृषि​ कानूनों का विरोध कर रहे किसान प्रदेश में भाजपा-जजपा नेताओं के कार्यक्रमों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे। चौटाला ने दोहराया कि किसान आंदोलन अब किसानों के हाथ में नहीं रहा ।

विभिन्न किसान संघों के संगठन संयुक्त किसान मोर्चा की अगुवाई में किसान कृषि कानूनों का ​विरोध कर रहे हैं ।

अम्बाला में अधिकारियों ने बताया कि शिक्षा मंत्री को अम्बाला हिसार राजमार्ग पर स्थित पंचायत भवन में एक बैठक की अध्यक्षता करनी थी । उन्होंने बताया कि राजमार्ग को किसानों ने कुछ घंटों के लिये जाम कर दिया था। सूत्रों ने बताया कि मंत्री जब बैठक की अध्यक्षता करने जा रहे थे उसी दौरान किसानों ने यह जाम लगा दिया । इसके बाद मंत्री को प्रदर्शन को देखते हुये वापस लौटना पड़ा ।

चरखी दादरी में भी किसानों ने सोमवार को कृषि कानून का विरोध किया और भाजपा नेता बबिता फोगाट को उस वक्त काले झंडे दिखाये जब वह अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंची थीं। किसानों का एक समूह फोगाट के पहुंचने के बाद मौके पर एकत्र हो गया। सूत्रों ने बताया कि मौके पर सुरक्षा व्यवस्था को चाक चौबंद करने के लिये पुलिस बल की तैनाती की गयी थी।

फोगाट 2019 में भाजपा में शामिल हुयी थी और विधानसभा का चुनाव भी लड़ा लेकिन वह हार गयी थी। बाद में उन्हें हरियाणा महिला विकास निगम का अध्यक्ष नियुक्त किया गया था ।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Wikimedia commons

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: