जॉर्डन में अस्थिरता फैलाने की दुर्भावनापूर्ण साजिश बेनकाब : विदेश मंत्री

यरुशलम, जॉर्डन के एक मंत्री ने रविवार को देश के पूर्व क्राउन प्रिंस पर ‘दुर्भावना’ से विदेशी तत्वों के साथ साजिश रचने का आरोप लगाया और कहा कि इससे राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा उत्पन्न हो गया।

विदेश मंत्री अयमान सफादी ने संवाददाताओं से कहा कि साजिश नाकाम कर दी गयी।

उन्होंने कहा , ‘‘यह स्पष्ट हो गया है कि वे एक खास मंसूबे के साथ बढे थे और साजिश रच रहे थे।’’

उन्होंने बताया कि प्रिंस के दो वरिष्ठ अधिकारियों के अलावा 14-16 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

विदेश मंत्री के इस बयान से एक दिन पहले शासक अब्दुल्ला द्वितीय की उनके सौतेले भाई हमजा को नजरबंद कर दिया गया था। जॉर्डन में सत्तारूढ़ राजशाही के भीतर कलह का यह दुर्लभ सार्वजनिक मामला है।

हमजा ने एक वीडियो टेप में देश के नेतृत्व पर अक्षमता एवं भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है।

उपप्रधानमंत्री सफादी ने कहा कि खुफिया एजेंट कुछ समय से साजिशकर्ताओं पर नजर बनाये हुए थे और उन्होंने इसे लेकर चिंता प्रकट की थी।

उन्होंने कहा कि हमजा से ‘ वे सारी गतिविधियों एवं कार्यकलाप बंद कर देने को कहा गया था जिनसे जॉर्डन एवं उसके स्थायित्व पर खतरा उत्पन्न होता है।’’

सफादी ने इस साजिश में शामिल विदेशी तत्वों की पहचान नहीं की। हालांकि, उन्होंने कहा कि कई खाडी अरब देशों में अपने कारोबारी संबंध वाले वरिष्ठ अधिकारी बसाम इब्राहिम अवधल्ला इसमें शामिल हैं और वे देश छोड़कर जाने की योजना बना रहे थे और हमजा की पत्नी के लिए विमान का इंतजाम कर रहे थे।

अमेरिका, सऊदी अरब और अरब देशों ने अब्दुल्ला के समर्थन में बयान जारी किया है।

अब्दुल्ला द्वारा हमजा को नजरबंद किये जाने के बाद भी उनके (अब्दुल्ला के) प्रति यह समर्थन जॉर्डन के रणनीतिक महत्व को रेखाांकित करता है।

प्रिंस हमजा ने एक वीडियो में कहा कि शनिवार को देश के सैन्य प्रमुख शनिवार तड़के उनके पास आए और उन्हें बताया कि उन्हें बाहर जाने, लोगों से बातचीत करने या उनसे मुलाकात करने की इजाजत नहीं है।

उन्होंने बताया कि उनका फोन तथा इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं। उन्होंने बताया कि वह उपग्रह इंटरनेट से बात कर रहे हैं और उन्हें बंद किया जा रहा है।

हमजा पूर्व क्राउन प्रिंस हैं, जिनसे अब्दुल्ला ने अपने पिता के निधन के बाद शासक बनने के पांच साल उपरांत यह उपाधि छीन ली थी।

इस बीच अमेरिका के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नेड प्राइस ने कहा, ‘‘अब्दुल्ला अमेरिका के अहम साझेदार हैं और उन्हें हमारा पूरा समर्थन है। ’’

अमेरिका जॉडन को अपना अहम सहयेागी मानता है और वह उसे सैन्य उपकरण एवं सहायता प्रदान करता है।

अमेरिका समर्थक खाड़ी के अरब देशों ने भी अब्दुल्ला के समर्थन में बयान जारी किये।

सऊदी प्रेस एजेंसी ने कहा कि देश का राज परिवार अब्दुल्ला के सुरक्षा के प्रयासों का समर्थन करता है। बहरीन, कुवैत, कतर और संयुक्त अरब अमीरात ने अब्दुल्ला के समर्थन में बयान जारी किया। 

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Wikimedia commons

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: