यूएनजीए में प्रमुख क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर पाकिस्तान के दृष्टिकोण को रेखांकित करेंगे खान

इस्लामाबाद, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान इस सप्ताह के अंत में संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने नीतिगत संबोधन में प्रमुख क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों, विशेष रूप से कश्मीर तथा अफगानिस्तान की स्थिति पर पाकिस्तान के दृष्टिकोण को रेखांकित करेंगे। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी।

विदेश कार्यालय ने सोमवार को यहां कहा कि संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) का 76वां वार्षिक सत्र मंगलवार से न्यूयॉर्क में शुरू होने वाला है और खान वीडियो लिंक के जरिए विश्व निकाय को संबोधित करेंगे।

संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान के स्थायी प्रतिनिधि मुनीर अकरम ने कहा कि यूएनजीए में देश की प्राथमिकताओं में कश्मीर के बारे में चिंताओं को उजागर करना और अफगानिस्तान के लिए एक रणनीति तैयार करना शामिल है कि कैसे स्थिरता, शांति, सुलह और अर्थव्यवस्था के पुनरुद्धार को सुनिश्चित किया जाए।

अकरम ने कहा, ‘हम चाहते हैं कि दुनिया इस स्थिति से शांति और सुरक्षा के लिए उत्पन्न खतरे का एहसास करे।’

विदेश कार्यालय के सूत्रों ने कहा कि प्रधानमंत्री खान कश्मीर में कथित मानवाधिकारों के उल्लंघन के बारे में बात करेंगे। पाकिस्तान का दावा है कि उसने हाल ही में इस संबंध में एक डोजियर प्रलेखित किया है, जिसे संयुक्त राष्ट्र के साथ साझा किया जा चुका है।

भारत पाकिस्तान से कई बार कह चुका है कि जम्मू-कश्मीर हमेशा से देश का अभिन्न अंग रहा है और हमेशा बना रहेगा। भारत ने पाकिस्तान को वास्तविकता को स्वीकार करने और भारत विरोधी सभी प्रचार को बंद करने की भी सलाह दी है।

क्रेडिट : पेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया
फोटो क्रेडिट : Wikimedia commons

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: